loading...
loading...

सहपाठी वर्षा की चुदाई कहानी

यारो, मेरी उमर 23 साल, मेरी हाइट 5’10” है और मैं बरेली से हूँ।
बात उन दिनों की है जब मैंने बीसीए के लिए कॉलेज जॉइन किया। मेरी कॉलेज में जहाँ देखो वहाँ मस्त लड़कियाँ थी लेकिन मैं अपने दोस्तों के साथ मस्ती करता था, मुझे किसी से कुछ लेना देना नहीं था।
जब मैं फ्रेशर पार्टी दे रहा था, तब मेरी मुलाकात वर्षा से हुई।
वो बीएससी प्रथम वर्ष में थी।
क्योंकि मैं कॉलेज में ज्यादातर बुरी हरकतों में घुसा रहता था तो मुझे कोई कोई ही जनता था।
हमारी दोस्ती हुई, अब वो हमेशा ब्रेक टाइम और छुट्टी में मेरे ग्रुप में रहती थी।
वो बहुत हॉट और सेक्सी थी लेकिन मैं कभी उसके बारे ऐसा सोचता नहीं था, मैं ज्यादातर ग्रुप में रहता था तो वो मुझसे ज्यादा बात नहीं कर पाती थी।
हिन्दी चुदाई कहानी,
सहपाठी वर्षा की चुदाई कहानी


एक दिन उसने मेरा सेल नंबर माँगा, मैंने उसे अपना नंबर दिया और घर के लिए निकलने लगा।
तभी वर्षा बोली- आज मैं अपनी दीदी के साथ आई थी लेकिन वो कहीं बिज़ी होने के कारण रिसीव करने नहीं आ पाएँगी… तो क्या तुम मुझे घर ड्रॉप कर दोगे?
मैंने कहा- ठीक है।
वो मेरी बाइक पर बैठ गई।
रास्ते में हम बात करते जा रहे थे, वो मेरे बारे में जानना चाहती थी, मैंने हर चीज़ बता दी।
रास्ते में उसके बूब्स मुझे टच हो रहे थे, मैं अपने आप को कंट्रोल नहीं कर पा रहा था, मन कर रहा था कि यहीं पर उसकी टीशर्ट फाड़ दूँ लेकिन खुद पर कंट्रोल करना पड़ा।
मैंने वर्षा को उसके घर ड्रॉप किया तो बोली- अंदर आओ…
लेकिन मुझे जल्दी थी तो मैं वहाँ से चला आया।
उसने कुछ देर बाद कॉल किया, थैंक्स कहा और यहाँ वहाँ की बात करने लगी।
उसने पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?
तो मैंने कहा- कोई नहीं है, और होगी भी कैसे? कोई बैड बॉय को अपना बायफ़्रेंड थोड़ी ना बनाएगी।
तो उसने कहा- नहीं, तुम गंदे लड़के नहीं हो… जहाँ तक मुझे पता है, तुम ओपन माइंड हो।
मैंने पूछा- तुम्हारा कोई बाय्फ्रेंड है?
तो उसने कहा- था, लेकिन मैंने उसे छोड़ दिया।
मैंने कहा- क्यों?
तो बोली- वो मेरे साथ चीट कर रहा था।
मैंने कहा- चल अछा है, बिंदास रहने का अलग ही मज़ा है।
उसके बाद मेरे मन में उसको चोदने का ख्याल आया।
उस दिन मैंने उसकी याद में मूठ मारी।
अब हम ज्यादातर साथ में रहने लगे।
मुझे उसके बूब्स देख कर चूसने का मन करता था!
अब हम दोनों एक दूसरे के यहाँ आते जाते थे।
एक बार मेरे पेरेंट्स 1 हफ़्ते के लिए पुणे गये थे, मैं घर में अकेला था तो मैंने सभी को अपने घर इन्वाइट किया।
हम सब लोग एंजाय कर रहे थे, मेरे फ्रेंड्स ड्रिंक करते थे तो वो 3 बॉटल ले आए।
चूंकि मेरी ग्रूप में लड़कियाँ थी तो मैंने बॉटल छुपा दी।
लेकिन एक ने देख लिया तो बोली- शरमा मत, हम लोग भी ट्राई करेंगी।
तो मैं बॉटल ले आया।
सबने ड्रिंक्स की लेकिन मैंने नहीं की।
वर्षा ने भी ड्रिंक किया।
हम सब उसके बाद यहाँ वहाँ की बात करने लगे, फिर सब अपने घर चले गये!
वर्षा को पीने के कारण सर में दर्द हो रहा था तो वो रुक गई और मेरे रूम में सो गई क्यूंकि उसने शायद पहली बार ड्रिंक किया था।
मैंने उसके घर में कॉल करके कहा- वर्षा अपनी फ्रेंड के यहाँ चली गई है, शाम तक आ जाएगी।
जब वो सो रही तो उसके बूब्स बाहर को निकल आये थे, मैं पागलों जैसे उसे देखने लगा, मैंने वहीं पर मूठ मार ली क्यूंकि इससे पहले मैंने कभी किसी के बूब्स नहीं देखे थे तो मैंने उसे चूसने के लिए पकड़ लिए और चूसने लगा।
मुझे मज़ा आने लगा।
शायद वो जागने वाली थी तो मैंने जल्दी से वहाँ से चला आया।
मैं आकर पीसी पे पॉर्न मूवी देखने लगा।
मुझे पता ही नहीं चला कि कब वो आकर मेरे पीछे खड़ी हो गई!
उसने गुस्से में कहा- ये क्या देख रहे हो?
मैंने जल्दी से पीसी ऑफ कर दिया और कहा- हॉलीवुड मूवी देख रहा था।
वो शायद सब जानती थी लेकिन मुझसे ऐसे बर्ताव कर रही थी जैसे कुछ जानती नहीं हो।
मैंने कहा- तूने कभी किस किया है?
तो वो बोली- नहीं, मैंने कभी नहीं किया है।
मैंने कहा- करना चाहती हो?
तो वो बोली- नहीं मैं नहीं करना चाहती।
मैं ज़बरदस्ती उसे किस करने लगा।
पहले उसने मुझे धक्का दिया लेकिन मैंने उसे कस के पकड़ लिया और किस करने लगा।
अब वो मेरा साथ देने लगी, हम दोनों 10 मिनट तक किस करते रहे।
वो पूरी गर्म हो गई थी।
मैंने कहा- पॉर्न मूवी देखोगी?
वो बोली- हाँ… मैं बहुत बार देखती हूँ।
तो मैंने जल्दी से पॉर्न मूवी लगा दी, वो देखने लगी और मैं उसे किस करने लगा।
मैं उसकी सलवार उतारने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा, वो ‘आआहह उऊहह…’ आवाज़ निकालने लगी, उसने मेरा लंड पकड़ लिया और दबाने लगी।
मैं उसके बूब्स चूसने लगा और दबा रहा था।
वो पूरी गर्म हो गई थी, उसने मेरा लंड बाहर निकाला और कहा- इतना बड़ा है तेरा?
मैंने कहा- मैं वर्जिन हूँ, आज तक मैंने किसी के साथ नहीं किया है।
तो उसने कहा- मैंने भी बस मूवी में देखा था!
मैंने कहा- इसे मुँह में डालो…
वो मना करने लगी लेकिन बाद में चाटने लगी, वो पागलों के जैसे चूस रही थी।
मैं उसके मुँह में ही झड़ गया, उसने मेरा पूरा पानी पी लिया।
मैंने उसकी पैंटी खोल दी अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी, मैं पागलों की तरह उसकी चूत चाटने लगा।
क्या खुशबू थी उसकी चूत में…
हम दोनों 69 की पोज़िशन में आकर एक दूसरे को चाट रहे थे।
मैं अब जल्दी से जल्दी उसकी चूत मारना चाहता था लेकिन वो मुझे छोड़ नहीं रही थी।
वो 15 मिनट तक मेरा लंड चूसती रही थी।
मैंने अब उसको बेड पे लिटाया और अपना लंड उसकी चूत पे रगड़ने लगा।
वो पागलों के जैसे आवाज़ कर रही थी।
मैंने अपना लंड उसकी चूत में डालने के लिए कोशिश की लेकिन उसकी चूत ज्यादा ही कसी थी, मेरा लंड अंदर जा नहीं पा रहा था!
मैं उसे किस कर रहा था और झटके से अपना आधा लंड उसकी चूत में डाल दिया।
वो चिल्लाने लगी, मैं उसे किस करने लगा और थोड़ी देर तक उसे किस करने के बाद जब वो नॉर्मल हो गई, मैंने फिर झटके से अपना पूरा लंड डाल दिया।
उसकी चूत से खून आने लगा, वो डर गई और मुझे लंड बाहर निकालने के लिए बोली।
मैंने कहा- थोड़ा सा दर्द होगा, और कुछ नहीं…
और मैं उसके बूब्स चूसने लगा।
मैं अब धीरे धीरे अपना लंड आगे पीछे करने लगा!
वो चिल्ला रही थी लेकिन थोड़ी देर बाद मेरा साथ देने लगी, हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे, मैं अब जल्दी जल्दी शॉट मारने लगा।
मैं दस मिनट में ही उसकी चूत में झड़ गया और वो भी मेरे साथ झड़ गई।
मैं उसके बूब्स चूसने लगा।
उसका चेहरा पूरा लाल हो गया था, मेरा लंड खून से लाल हो गया था और उसकी चूत भी खून से लाल थी।
वो मेरा लंड चूसने लगी, मेरा लंड मुँह से साफ कर दिया उसने।
मैं उसके बूब्स चूसने लगा। मैं अब उसकी चूत को चाट रहा था, वो कांपने लगी, वो आगे पीछे होने लगी, उसे मज़ा आ रहा था।
हम दोनों फिर से चुदाई करने लगे।
हमने उस दिन तीन बार सेक्स किया।
अब उसे घर जाना था लेकिन चूत में दर्द होने के कारण वो ठीक से चल नहीं पा रही थी।
मैंने कहा- यहीं रुक जाओ।
तो उसने अपने घर में फ़ोन करके कहा कि वो आज रात अपनी फ्रेंड के यहाँ स्टडी के लिए रुक रही है।
फ़िर हम दोनों ने साथ में पॉर्न मूवी देखी और एक दूसरे को किस करने लगे।
मैं उसे अपनी गोद में बिठा कर सेक्स करने लगा, हम दोनों सेक्स करते रहे, फिर हम दोनों पूरे नंगे हो कर टीवी देखने लगे।
रात को हम दोनों ने ड्रिंक किया, मुझे ड्रिंक का असर होने लगा तो मैंने कोल्ड ड्रिंक्स पी ली लेकिन वर्षा ज्यादा पी गई।
हम फिर से किस करने लगे।
मैंने कहा- मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ।
तो बोली- जो करना है, करो !
मैंने अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया, वो चिल्लाने लगी लेकिन मैंने उसकी एक ना सुनी और अपनी स्पीड बढ़ा दी।
हम दोनो एक साथ ही झड़ गये।
हम सुबह साथ में नहाने गये और वहाँ भी सेक्स किया।
और उसके बाद हमें जब भी मौका मिलता था, हम सेक्स करते थे!
फिर उसके पापा का ट्रान्स्फर हो गया और वो आगरा चले गये। dosoto kaisa laga meri classmate ki chudai kahani  ascha lage to share please .. agar kisine varsa ke saath chdai karna chahte ho to add karo Facebook.com/Varsa

1 comments:

loading...
loading...

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter