दो सौतेले भाई ने मुझे रात भर रेप किया

Sautele bhai ne mera rape kiya xxx real hindi story, बलात्कार की देसी रपे कहानी, Do sautele bhai ne mujhe choda xxx desi kahani, दर्दनाक चुदाई की कहानी, Sautele bhai ne meri seal todkar choda xxx dardnak kahani, सौतेले भाई ने मुझे चोदा Xxx Kahani, रात में सोते हुए सौतेले भाई ने मेरी चूत में लंड पेल दिया Real Kahani, सौतेले भाई के लंड से चूत की प्यास बुझाई Chudai Kahani, सौतेले भाई से चूत चटवाई, सौतेले भाई को दूध पिलाई, सौतेले भाई से गांड मरवाई, सौतेले भाई ने मुझे नंगा करके चोदा, सौतेले भाई ने मेरी चूत और गांड दोनों को मारा, सौतेले भाई ने मेरी चूत को चाटा, सौतेले भाई ने मेरी चूचियों को चूसा और सौतेले भाई ने मेरी चूत फाड़ दी,

दोस्तों, आज जो हिंदी रेप सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हू वो मेरी रेप सेक्स की कहानी हैं. मैं आज आपको बताने जा रही हू कैसे दो सौतेले भाई ने मुझे चोदा , कैसे एक-एक करके मेरे साथ बलात्कार किया, कैसे मेरी चूत तोड़ दिया,  गुस्सा भी आ सकता है, क्यों की किसी अबला लड़की के चूत को तार तार किया जा रहा है तो आप समझ सकते है की क्या हाल होता होगा. मेरा नाम गौरी है, मैं राँची मे रहती हू, अभी मैं 21 साल की हू, कुछ साल पहले जब मैं जवान हू, मेरी दोनो चुचियाँ बहूत बड़ा बड़ा तो नही पर हा अच्छा हो गया था उभार साफ़ साफ़ दिखता था आप उसको एक हाथ मे पकड़ सकते थे, मेरा पेट भी सपाट था,


चूतड़ की उभर भी अच्छी थी, मेरा बूर काफ़ी टाइट था शायद मेरा चूत और गांद का छेद बराबर थी था, दोनो का छेद इतना छोटा था की मैं उसमे उंगली तक नही डाल सकती है, गाल मेरे गुलाबी और होठ पिंक पिंक हो रहे थे,मेरी मा का देहांत होने के बाद मेरे पिताजी ने दूसरी शादी कर ली, मेरी सौतेली मा को भी दो बेटा था जो साथ आया था वो दोनो मुझसे भी 2 से 3 साल का बड़ा था, उसकी नज़र मेरे चूच और गांड पे रहती थी, उसकी बहसी निगाहें मुझे हमेशा घूरते रहती थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।पर मैं इन्न सब को इग्नोर करते रहती थी, मैं कभी उसे महसूस ही नही होने दी की उसकी बहसी निगाहों को मैं महसूस कर रही हू.एक दिन की बार है, मेरे सौतेली मा के फादर का डेत हो गया तो मम्मी पापा और मेरा छोटा सौतेला भाई कवीर तीनो वाहा चले गये घर मे मैं और मेरा बड़ा सौतेला भाई नरेश घर पे था. रात को नरेश ने मेरे लिए समोसा और कोल्ड ड्रिंक्स लाया, मैं बहूत खुश हुई की चलो आज मेरा भाई मेरे उपर तरस खा रहा है वरना इश्स घर मे मुझे दुतकार के अलावा मुझे मिला ही क्या था, उसने कहा खा ले मेरी प्यारी बहन आज मैं तेरे लिए लाया हू,मैं समोसा खा के कोल्ड्रींक्स पी ली, पर मुझे स्वाद कुच्छ अच्छा नही लगा था कोल्ड्रींक्स का,

मैने नरेश से पुचछा भैया इसका स्वाद अलग है इतना कहते कहते मेरी आँखे बंद होने लगी और बेड पे लेट गयी, मैने कहा भैया मुझे ठीक नही लग रहा है, तो नरेश ने बोला गौरी अब तुम 8 घंटे तक उठ नही सकती है, ना तो हिल डुल सकेगी ना तो तुम चिल्ला सकेगी, क्यों की मैने तुम्हारे कोल्ड्रींक्स मे एक दबाई मिला दिया है. तो मैने पुचछा भाई तुमने ऐसा क्यों किया तो वो बोला मैने तुम्हे चोदना चाहता हू, बहूत दिन से तुम्हारी जिस्म को देख कर मैं मूठ मार रहा था.इतना कहते ही नरेश मेरे बदन के कपड़े को खोलने लगा, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैने फिर कहा भैया भगवान के लिए ऐसा मत करो प्लीज़ तो बोला कुटिया साली तुम कुच्छ नही बोलेगी आज मैं अपना लॅंड तेरे चूत मे घुसौंगा, और वो मेरे सारे कपड़े उतार दिए मैं कुछ भी नही कर पाई. उसके बाद भाई ने मेरे बूब को मूह मे लेके चूसने लगा, और अपने हाथों से दबाने लगा, वो फिर मेरे गुलाबी होत को चूमने लगा और कह रहा था, क्या चीज़ है गौरी, आज तो तेरे बूर को मैं फाड़ दूँगा, आज मैं अपना खवैिश पूरा करूँगा, और भाई ने मेरे पेंटी खोल दिया,भाई ने मेरे दोनो टॅंगो के बीच मे बैठ के मेरे चूत को जीभ से चाटने लगा, और उंगली घुसने को कोशिश करने लगा, मुझे दर्द भी हो रहा था पर मैं कुच्छ भी नही कर पा रही थी,

फिर वो मेरे गांद मे अपना उंगली घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से अंदर बाहर करने लगा, फिर वो मेरे होत को चूमा चूच को दबाया और फिर अपना मॉन्स्टर लॅंड को निकाला मैं दर गई उसके लॅंड को देखकर क्यों की उसका लॅंड बड़ा मोटा कला और लंबा था, उसकने अपने लॅंड मे थूक लगाया और मेरे नन्ही से चूत की च्छेद पे रखा और ज़ोर से धक्का दे दिया, लॅंड मेरे चूत के अंदर जा ही नही रहा था, फिर उसने रसोई से सरसो का तेल ला के लॅंड मे लगाया और फिर से वो ट्राइ किया मेरे कंधे को पकड़ लिया और लॅंड चूत के छेद पे रखके फिर ज़ोर से धक्का दिया, अब भाई का मोटा लॅंड मेरे चूत को फड़ते हुए अंदर चला गया, मेरे आँख से आँसू निकल गये, मैं तड़पने लगी, पर वो रुकने का नाम नही ले रहा था.फिर मुझे वो रात के 10 बजे तक दो बार छोड़ चुका था, मेरे बिस्तर पे उसका वीर्य और मेरे चूत का खून लगा हुआ था, मैने विस्तार पे नंगी पड़ी थी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।तभी किसी के दरवाजा खटखटाने की आवाज़ आई जब नरेश ने दरजाज़ा खोला तो देखा कवीर वापस आ गया था, वो तुरंत ही अंदर आ गया और कमरे मे दाखिल होते ही, वो नरेश से पुचछा भैया ये सब क्या है, गौरी को तुमने क्या किया वो नंगी है, कुछ बोल भी नही पा रही है, मैं सब बात को सुन रही थी, तभी नरेश ने बोला आज मेरे सपना पूरा हो गया है कवीर,

आज मैने इसकी चूत फाड़ दी, तो कवीर बोला आपने ऐसा क्यों किया, मैं गौरी को चोदने बाला था, मैने पहले इसका चूत फाड़ना चाहता था, तभी तो मैने बहाना बना के वापस आ गया.नरेश बोला की चल कोई बात नही तुम गांद ही मार लो, मैने तो चूत का भोसड़ा बना दिया, तो कवीर बोला चल ठीक है मैं गांद की सील पहले तोड़ता हू, और फिर भाई ने मेरे गांद मारा फिर चूत को, रात भर वो दोनो मुझे बीच मे सुलाया और दोनो तरफ से बारी बारी से चोदते रहा. फिर क्या था मैं सुबह जब उठी तो बोली की मैं ये सारा बात पापा को बता दूँगी तो कवीर और नेरेश ने अपना मोबाइल निकाला और वीडियो दिखाया उन्न दोनो ने मेरी ब्लू फिल्म बना ली थी और बोला की अगर तुमने अपना मूह खोला तो मैं सबको दिखा दूँगी, दोस्तों ये कहानी आप निऊहिंदीसेक्सस्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर क्या था आज तक मुझे चोदे जा रहा है अब तो ऐसा लगता है मैं उन्न दोनो की रखैल हो गयी हू, कैसी लगी मेरी रेप सेक्स की कहानी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो जोड़ना Facebook.com/GauriSharma

1 comments:

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter