loading...
loading...
Home » , , , » फेसबुक पे बहन से दोस्ती फिर होटल में चुदाई

फेसबुक पे बहन से दोस्ती फिर होटल में चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो भाई और बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी बहन की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे फेसबुक पे बहन से दोस्ती करके चोदा,कैसे बहन ने मेरा लण्ड चूसा,कैसे बहन ने मुझसे चुदवाये , कैसे बहन को नंगा करके चोदा,बहन की चूचियों को चूसा ,कैसे बहन की चूत चाटी, कैसे बहन को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से बहन की चूत फाड़ी,  बहन की गांड मारी , कैसे मेरी बहन की कुंवारी चूत को ठोका । मेरी बहन का उम्र २४ साल है वो मेरे से २ साल बड़ी है, मैं अपने बहन से सेक्स करना चाहता था इस वजह से मैं उसके बदन को निहारता था,


कभी कभी तो मुझे लगता था ये गलत है पर मैं सोचता था अगर घर का माल घर में ही रह जाये तो क्या हर्ज है, फिर मैं कभी उसको कपडे बदलते हुए तो कभी उसे नहाते हुए देखने की कोशिश करता मैं बहन की चूची देखने में तो सफल हो गया पर मेरी मंज़िल तो उसके साथ सेक्स करने का था, कई बार मैंने उससे दोस्ती करने की कोशिश की तो वो डाट देती कहती क्या कर रहे हो, यहाँ क्यों टच कर रहे हो इस वजह से मैं सहम जाता और छोड़ देता क्यों की दर रहता था की कही पापा को ना बता दे| एक दिन मेरे दिमाग में एक आईडिया आया क्यों ना हम फेसबुक पे पहले दोस्त बनाये, मैंने अपनी एक फेक फेसबुक आई ड़ी (फेसबुक प्रोफाइल) बनाई, काफी हंसोमे सा इंटरनेट से कॉपी करके एक फोटो लगाया, अपना प्रोफाइल भी काफी अच्छा पढ़ा लिखा बनाया और एक कंपनी का मैनेजर पे काम कर रहा हु ये भी लिखा, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मुझे अपने बहन की फेसबुक प्रोफाइल के बारे में पता था, फिर मैंने उनको रिक्वेस्ट भेजा, कई बार रिक्वेस्ट भेजने के बाद वो मुझे एक दिन फेसबुक पे फ्रेंड बना लिया, फिर वो जो भी पोस्ट करती उसको मैं लिखे करता और अच्छा अच्छा कमेंट लिखता, मैं हमेशा तारीफ करता, करीब एक महीने ताल उसके पोस्ट को कमेंट करता और हमेशा उसके पिक्चर को या शायरी को या किसी भी चीज़ को तारीफ करता, ये करते करते मैं उब्ब चूका था, मैंने सोचा चलो अब काम पे आया जाये, फिर मैंने एक दिन उसको चाट पे हेलो कहा वो भी हेलो कही, फिर मैंने कहा आप बहुत अच्छा लिखती हो,

आपका फेस और फिगर काफी सेक्सी है, वो भी चेट करने लगी, उसको नहीं पता था की मैं हु वो तो कोई और समझ के बात चीत कर रही थी. करीब १ महीने तक हमदोनो फेसबुक पे बात करते रहे, फिर मैंने एक दिन उसको कहा की मैंने ऋषिकेश आ रहा हु कंपनी के काम से क्या वो मुझे होटल में मिल सकती है है, मैंने उसको टाइम दिया १० दिन का वो मान गयी, फिर हुमदोनो सेक्सी बात करने लगे, करीब पांच दिन तक हमलोग सेक्सी बात करते करते मैं उससे वेब काम से बात करने के लिए मना लिया पर एक शर्त रख ली की हुमदोनो में से कोई भी फेसबुक नहीं दिखायेगा सिर्फ गर्दन से निचे का भाग ही दिखायेगा हमलोग एक दूसरे के चेहरे को होटल में ही देखंेगे वो मान गयी और फिर करीब ५ दिन तक मैंने उसके पुरे शरीर को देखा चूच मस्त था यार, ऊपर से तो रोज देखता था पर अंडर से देखने का मज़ा ही कुछ और था, बड़ा बड़ा टाइट चूच उसके नाभि तो बूर से काम नहीं था, मस्त भरा पूरा शरीर था मेरे बहन का, अब रो दिन में रोज ३ से ४ बार हस्तमैथुन करता बहन की चूच और बूर को देखके आखिर टाइम आ गया| आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं घर से बोल दिया था की मैं कंपनी के काम से बहार जाना पड़ रहा था मैं दो दिन पहले ही घर से निकल गया और उस होटल में कमरा ८०० में २ दिन के लिए ले लिया, मेरी बहन भी घर में परीक्षा का बहाना बनाकर जाने की बात करने लगी थी ४ दिन पहले, पापा तो फ़ौज में है, वो तो घर पे होते नहीं माँ तो हाउसवाइफ है उनको पढ़ाई के नाम पे मुर्ख बनाना आसान था,

माँ तैयार हो गयी मेरी बहन को १ दिन बहार जाने के लिए,मैं तो २२ मार्च को ही घर से निकला था मेरी बहन २३ मार्च को घर से निकल गयी मैंने उसको पहले ही होटल का पता दे दिया था मैं कह दिया था मैं सात दिन से इसी होटल में हु, करीब शाम को ८ बजे वो होटल पहुंची और मेरे कमरे का दरवाजा खटखटाया मैं तो काफी डर गया की पता नहीं क्या होने बाला है, वो अगर मुझे देखकर क्या सोचेगी करीब ३ से ४ मिनट तक यही सब सोचते रहा और फिर दरवाजा खोला मरी बहन बहार कड़ी थी, वो मुझे देख के हैरान हो गयी और बोली तुम? और आँख से आंसू आ गया और गाली देने लगी, हरामी कहिके तुम्हे शर्म नहीं आई घटिया हरकत करते हुए वो भी बहन के साथ, फिर मैंने उसको अंदर बुलाया और बैठाया पानी दिया और मैंने कहा सॉरी फिर वो चुप हुई करीब १० मिनट चुप चाप रही फिर वो बोली, तुम्हारा लैंड बहुत बड़ा है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और हसने लगी. मैं समझ गया ये तो बस नाटक कर रही थी, फिर मैं उसको अपने बाहो में भर लिया और किश करने लगा वो भी किश करने लगी, कमरे का दरवाजा बंद किया और दोनों बेड़ पे लेट गए और किसिंग करने करने लगे, फिर बोली अभी जल्दी क्या है, रात तो अपनी है आज रात हम दोनों पति पत्नी के रूप में रहेंगे. बोली अभी तो भूख लगी है, चलो बहार जाके कुछ खाके आते है, फिर हम दोनों बहार खाना खाके आये और बाहों में बाहे ड़ाल के ही चलते रहे, फिर होटल वापस आते ही दोनों ने कपडे खोल दिया और मेरी बहन मेरा लौड़ा अपने मुह में लेके आइसक्रीम की तरह चूसने लगी

बोली मैं भी उसका बूब दबा रहा था मैंने उसके बाल खोल दिए और बेड़ पे लेट गए, फिर तो क्या था रात भर हम दोनों ने अपनी वासना बुझाई, मेरी बहन वर्जिन थी काफी खून आया था उसके बूर से, रात भर करीब ४ बार चुदाई की थी अब तो मेरा भी हरेक दो महीने में टूर होता है और उसका एग्जाम आप समझ गए ना? ज्यादा बहन के बारे में नहीं बोलना चाहिए. क्यों की है तो मेरी बहन ही.आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कैसी लगी हम डॉनो भाई और बहन की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी बहन की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/KarunaSharma

0 comments:

Post a Comment

loading...
loading...

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter