मेरी रस भरी प्यासी चूत की कहानी

प्यासी चूत की कहानी Hindi adult story, अन्तर्वासना की कामुक कहानी, Meri ras bhari tadapti chut ki kahani, मुँह बोला भाई से चूत की खुजली मिटवाई xxx chudai kahani, भाई ने मुझे चोदा xxx story, मुँह बोला भाई का 9 इंच का लंड से खूब चुदी xxx real kahani, मुँह बोला ने चूत की प्यास बुझाई hindi story, भाई से चूत चटवाई, मुँह बोला भाई से गांड मरवाई, भाई से चूत की प्यास बुझाई antarvasna ki hindi sex stories, 

मेरा नाम सोनिया है मै  BA-2  क्लास में पढती हु मै अन्तेर्वासना की बहुत बरी फैन हु!  मै  ने इसे पढ़ कर बहुत कुछ सीखा है लरको के बारे में ,मै  आप  लोगो के साथ एक सची बात बाता  ने जा  रही  हु पर उस से पहले मै अपने बारे में आप लोगो को बता दू  मुझे लरको को सताना अछा  लगता है बहुत माजा आता है मै  रंग गोरा,पतली कमर  देखने में में बिलकुल सेक्सी लगती हु ! पतली कमर 5"1" लम्बा , मेरी  चूची की साइज़ जादा बारा नही है ! लिकिन इतना तो है की अगर मै किसी को दिखा दू तो लंड से पानी निकल जाये ! मुझे जब चुदवाने का जोस चढ़ता है तो मेरी चूची का साइज़ बढ जाता है और चूची का निपल एक टावर की तरह खार हो जाता है

मेरा बूर का साइज़ 2" लम्बा और फुल्ल हुआ है मै ने आभी सेक्स नही क्या है पर मै रोज आपने बूर में फिग्रिंग करती हु इसके चलते मेरे बूर का साइज़ कुछ बढ़  है और उस के उपर थोरे से  बल है !मेरे बूर के उपरी भाग जो छोटा सा बिंदु की तरह है अगर गलती  से भी उस पेर मेरा हाथ चला जाये तो मेरे बूर  आग लग जाता है जी करता है की किसी से भी जा कर चोद्वा लू  !आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मेरा पीरिएड 22 तारीख को आता है जब मेरा पीरियड आता है तो मै बहुत परेसान हो जाती हु दर्द भी होता है और मेरे  से पानी और बल्ड जैसा निकलता है और उसके 2-3 दिन बाद मुझे सेक्स करने का मन  करता है मेरे बूर का रंग गोरा है  ये बल कभी कभी मेरे बुर के पास गुदगुदी कर देता है उसके बाद मै और बेकाबू हो जाती हु पर मै क्या करू  मेरा बॉय फ्रेंड बेवफा निकला ,मै  तब की बात कर रही हु जब मई 10+2 क्लास में पद्धति थी वह  लरके और लार्किया साथ में पढ़ते थे एक सुमित नाम का लारका  था जो मुझे हर रोज लाइन मरता था मै भी थोरी बहुत  उसे चाहती थी वह  हर रोज मेरे  गली में साम को आता था मै भी  उस टाइम पर छत पे आ जाती  थी एक दीन मै स्कूल से आ रही थी तो वह रस्ते में मिला और उसने मुझे एक लेटर दिया और बोल इसे अकेले मै पढ़ लेना मेरे दिल की बात है इस लेटर में, मै भी उस के लेटर को लेली मै ने अकेले में उस लेटर को पढ़ा उस में मोबाइल नंबर भी था हम दोनों की बात होने लगी बहुत दिन तक हमरी आपस में बाते चलती रही एक दिन उस ने कहा की सेक्स वाली बाते आज करेगे !मै ने कुछ नही बोल


वह - तुम कितने नम्बर की बरा पहनती हो ?
मै-28''
वह - मै उस का बोटम खोल  हु
मै- उस की ग्राम सासे मेरे रोम रोम को भरका रही थी !
वह - मै तुहारे चूची को दबा रह हु
मै- मुझसे रहा नही गया  मै अपने हाथो से आपनी चूची को दबाना सुरु कर दिया मेरे चूची के दोनों निपल खरा हो गया ,
मै आपने चूची  के निपल को होटों से चाटने लगी !मै कैसे बताऊ आप लोगो से की लार्किया बहुत जल्दी जोस में आ जाती है
वह - मै तुहारे बूर की चडी (कछी )को उतार रहा हु ! और मै तुम्हारे बूर को चाट रहा हु  चूऊऊऊऊऊऊऊउ ,,तातातातातातातात ,चुचुचुचुमै- आपने बूर के उपरी हिसे को सहलाने लगी मेरे बूर अंदर अक अजीब सी  हलचल मची हुई थी जी तो कर   रहा  था की कुछ भी आपने उंदर डाल  के हिलोर दू ! फिर  मै ने ने आपनी अंगुली को बूर के अंदर डालना सुरु किया मत पूछो यारो जब मेरी अंगुली मेरे बूर के उपरी हिसे को टच करती थी तो मै और जोस में आजाती थी मन  था की मै अपने पुरे हाथ को बूर के अंदर दल दू पर कैसे करती फिर मुझे रहा नही गया मै  ने रत को आपने किचेन से बेलन लेकर बाथरूम में गई और मै  ने बेलन से बूर को बहुत मसाज किया मेरे बूर से आब पानी जैसा निकलने लगा ! आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मै और जोस में आकर तेजी से हिलाने लगी! और थोरी देर बाद मेरे बूर के अन्दर गुदगुद सी होने लगी लगता था सायद आब लंड के बिना कम नही चलेग !  उसने कहा की मै तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हु पर मै  कैसे कहती की मई भी सेक्स की प्यासी हु मै लरकी जो  थी ! फिर हम दोनों ने अक दिन पालन बने और मै टियुसन के बहाने बनाकर एक होटल को 2 घंटे के लिए लिया उस टाइम दिन 11 बज रहा था !हम दोनों जैसे ही रूम में घुसे अक दुसरे के कपरे खलने सुरु कर दिया बिना टाइम गवाए ! उसे फिर उसने मुझे बाथरूम से लगे और मुझे कहा की तुम मुतो मै देखूगा मै ने जैसे ही पेसब किया की उसे ने मेरे बूर को चाटने लगा !मै ने झट से मुझे बेड पर गिर दिया और मेरे बूर के साथ खलने लगा कभी अंगुले से मेरे बूर को पेलता तो कभी आपने जीभ से, मै भी थोरी देर में उस के लंड को मुह में लेकर ब्रश की तरह चुसना सुरु कर  दिया फिर वह मुझे आपने लंड से मेरे बूर को पेलने लगा !उस ने मेरे दोनों पैरो को फैला कर मेरे बूर को बे रहमी से पेल रहा था मुझे तो मजा भी आ राहा था और थोर सा दर्द भी हो रहा था ! हम दोनों ने करीब 30 मिनट तक सेक्स किया !

उस के बाद उस के लंड से स्पन बहार निकल गया !उस के बाद से हम दोनों  को कभी भी सेक्स करने का मन करता है सेक्स करते है और दोस्तों मै आप को बता दु की सेक्स इतना मजा किसी भी चीज में नही है मेरी ये सेक्स वाली कही आप को कैसी लगी आप मुझे इस साईट पर कोम्मेंट केरे के जाहिर करे !मै  जरुर पढूगी और आप के साथ कमेंट मै भी करुगी  !कैसी लगी मेरी सेक्स कहानियां , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/SoniaSharma

1 comments:

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter