loading...
loading...

चचेरी बहन की सील तोड़ी

आज मैं आपके लिए एक बड़ी हॉट सी सेक्स कहानी जो की मेरी चचेरी बहन के बारे में है. आज मैं आपको बताऊंगा की कैसे मैंने अपने चचेरी बहन को चोदा और उसे रंडी बनाया.मेरी चचेरी बहन का नाम रागिनी है. मैं अपने स्कूल टाइम से ही मोबाइल फ़ोन पर सेक्सी क्लिप और चुदाई का वीडियो देखा करता था, पर मुझे कभी भी अपनी चचेरी बहन के तरफ ध्यान नहीं गया था, पर जब उससे एक दिन मैंने ब्रा और पेंटी में उसके यौवन को देखा तो मेरा मन उसको चोदने का करने लगा.
आशा करता हु की आपको बहुत मजा आएगा.मैं ओर मेरी बहन एक घर मैं अकेले रहते थे मैं स्कूल मैं पढ़ता हू ओर वो बगल के शहर में कॉलेज में पढ़ाई करती है. एक दिन की बात है मेरी बहन नहाने गई थी ओर उस टाइम पे मैं रोज की तरह पॉर्न देख रहा था अपने मोबाइल फ़ोन पर तभी बातरूम से आवाज़ आई आलोक ज़रा मेरा तौलिया और कपड़े देना तो. मैं गया ओर टवल ओर दीदी के ब्रा-पेंटी ले कर दीदी को देने गया, कपड़े देते टाइम मैं मैने दीदी के आधे बूब्स देखा पर मैने उसे इग्नोर किया फिर बाद मैं आपने रूम मैं जाने लगा तभी पीछे से दीदी बाहर आ रही थी उसने टवल लपेटा हुआ था.पर जेसे ही वो बाहर आई के उसका टवल डोर मैं फँस गया ओर टवल फॅट कर निकल गया मैं ने पीछे मूड कर देखा तो दीदी सिर्फ़ ब्रा-पेंटी मैं खड़ी थी उस टाइम पे मैने आपनी बहन को सबसे हॉट अंदाज मैं देखा ओर बस उस टाइम से ही मुझे आपनी बहन से प्यार होगआया उस सिचुयेशन के बाद उस रात मैं बस आपनी बहन को देखता रहा ओर आपना लौड़ा सहलाता रहा दूसरे दिन जब मेरी बहन आपने कॉलेज के लिए निकल गई ओर मैं घर पे अकेला था तब मैने आपनी बहन के रात के पहने हुए कपड़े निकले ओर मैने बहन की ब्रा-पेंटी को सूंघने लगा ओर बाद मैं मैने उसकी पेंटी आपने लंड पे रख कर मूठ मरने लगा ओर आपना सारा माल पेंटी मैं डाल दिया ओर ब ये मेरा रुटीन हो गया था की मैं दीदी की पेंटी मैं मूठ मरता था रोज मूठ मरने से पेंटी खराब होती थी ओर इस वजह से मेरी बहन को मुझ पर शक होने लगा..आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। एक रात को खाना खाने के बाद दीदी ने मुझे कहा के आलोक मुझे तुमसे बहुत ज़रूरी बात करनी है ओर फिर उससने मुझे आपनी पेंटी देखाई ओर बोली की मेरी पेंटी पर ये दाग कहा से आए तब मैं थोड़ा नर्वस हो गया ओर बोल दिया की मुझे नही पता पर दीदी बोली मुझे पता है की ये दाग कहा से आ सकते है मैने कुछ नही बोला तो दीदी ने कहा सच बोलो क्या तुम मेरी पेंटी मैं मूठ मरते हो?? तो अब मैने कह दिया की हां मैं आपकी पेंटी मैं मूठ मारता हू क्यों की मैं आपसे प्यार करता हू ओर आपके साथ सेक्स करना चाहता हू.ये सुन कर मेरी दीदी के होश उड गये ओर वो गुस्सा करने लगी.पर मैने ठान लिया की आज की रात तो मैं दीदी को चोद कर अपना गर्ल फ्रेंड बनाऊंगा ओर मैने दीदी को बोला की आप आज या तो मुझे चोदने दो या फिर मैं आपको जबरदस्ती चोदूँगा आपकी मर्ज़ी फिर दीदी बोली की मैं तुम्हारी बहन हू ये सूब हमारे बीच नही हो सकता, पर मैं कुछ सुनने नही वाला था तो मैं सीधा दीदी को दीवार पर दबके उनके होतो को चूस ने लगा दीदी मुझे दूर करने लगी पर मैं नही रुका ओर किस करता गया ओर दीदी के सेक्सी बूब्स दबाने लगा फिर दीदी रोने लगी तो मैने बोला आज कुछ भी हो जाये मैं तुझे रंडी बना कर चोदूगा ओर फिर मैने उसको बेड पर फेक दिया ओर पहले खुद कपड़े उतरे ओर फिर जबरदस्ती दीदी के भी कपड़े उतारने लगा ओर उसे किस करने लगा वो रोने लगी ओर देखते ही देखते हम दोनो नंगे हो गये, पर वो थोड़ा अलग तरह से लग रही थी. वो मुझे हेल्प नहीं कर रही थी.फिर मैंने पूछा दीदी से की साथ मिल कर करोगी या मैं जबरदस्ती से करू तो दीदी बोली की अगर अब तुम्हारी यही मर्ज़ी है की तू मुझे रंडी बनाना चाहता है तो फिर चोद ले मुझे ओर बनादे रंडी मेरे पास ओर कोई रास्ता नही बचा, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ये सुन कर जेसे मैं स्वर्ग मैं पहुंच गया ओर अपना होठ दीदी के होठ से चिपका दिए ओर अब हम दोनो एक दूसरे की जीभ को चूस ने लगे ओर 15 मीं तक करते रहे आब मैने आपना लंड उसके मुंह मैं डाल दिया वो चूस ने लगी मुझे बहुत मज़ा आरहा था 20 मीं के बाद मैं उसके मूह मैं ही झड़ गया वो मेरा सारा माल पी गई.अब फिर से मैं उसे किस करने लगा ओर उसके बूब्स भी चूसने लगा थोड़ी देर मैं मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया दीदी ने बोला आब मुझे से कंट्रोल नही होता घुसा दे तेरा ये 7.5” का लंड इस वर्जिन चूत मैं फिर मैं दीदी की चिकनी और क्लीन चूत को चाट ने लगा ओर आपनी जीभ भी चूत मैं डालने लगा दीदी को भी मज़ा आने लगा वो भी आआआः . आआआः. सस्स्स्सश कर के सिसकारियाँ भर ने लगी आब मैने आपना लॅंड उसकी चूत पे रखा ओर जोर जोर से धक्के शुरू कर दिए पेले मेरा लॅंड आधे तक गया फिर धीरे धीरे पूरा लॅंड घुस गया दीदी की वर्जिन चूत पर पहली बार किसी लंड ने हमला किया था वो दर्द से चिल्ला रही थी ओर आआआः. आआआः . फक. फ़फफुकक म्मी. फफफफफुकक अमम बोलने लगी ओर मैं उसे चोदता रहा फिर मैं करीब 30 मीं के बाद उसकी चूत मैं ही झड़ गयाअब मैं जिस गांड का दीवाना हो गया था उस को फाड़ ने .का समय आ गया था मैने फिर से आपना लॅंड दीदी के मूह मैं डाला ओर वो चूस ने लगी ओर मेरा लॅंड फिर से खड़ा हो गया मैने बोला “आजा रंडी आज तेरी गांड को फड़ता हू .”, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर दीदी डॉगी स्टाइल मैं आ गई ओर मैं ने आपना मूह उसकी नंगी ओर वर्जिन गांड पर लगा दिया ओर उसका मज़ा लेने लगा मैं आपनी जीब से उसके चीड़ को चाट ने लगा वो आअहह. आअहह. करने लगी फिर मैं ने आपना मोटा लॅंड उसकी गांड पर रख दिया ओर घिस ने लगा .फिर मैं ने उसके चीड़ पर थूक लगाया ओर एक ही जटके मैं मेरा पूरा का पूरा 7.5” का लंड घुसा दिया वो दर्द के मारे चिल्ला उठी. आआहह . आआहह . पर मैं नही रुका ओर धक्के मरने लगा पूरे रूम मैं बस आआअहह . आआहह. फक . फक . की आवाज़े गूंजने ल्गाई, हम दोनो को जेसे जन्नत का सुख मिल गया फिर मैने आपनी मॅक्स स्पीड पर धक्के मरने शुरू कर दिए ओर फिर 20मीं के बाद मैं उसकी गांड मैं झड़ गया.हम दोनो बहुत थक गये थे, हम दोनो एकदुसरे को किस करते करते बेड पर पड़े रहे ओर फिर मैने उस रात को दीदी को 5 बार चोदा ओर पूरी तरह से आपनी बना ली अब हम लोग लगभग हररोज एक दूसरे को चोदते है ओर आपनी वासना पूरी करते है,कैसी चचेरी बहन की चुदाई, अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी चचेरी बहन की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RaginiSharma

1 comments:

loading...
loading...

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter