Shadhu baba ne saas aur bahu ko ek sath choda

Dosto aaj jo hindi gandi kahani batane jaa raha hu wo ek jawan saas aur kamuk bahu ki sex kahani hai.aaj main bataunga kaise shadhu baba ne choda pooja ki bahane, kaise shadhu baba ne maa beti ko choda, kaise tantrik pooja ki bahane nanga karke maa aur beti ko ek sath choda, kaise saas aue bahu ko choda, Riya ki pati biluk ek nakam admi hai.. wo jo karta hai waha lose ho jata hai, isliya riya ne ek sahdhu baba ke paas gayi aur baba ke pass madad mangi,shadhu baba ne riya ki mast boobs aur moti gandh dekh ke riya ki chudai ke bahana banane laga, isliya shadhu baba ne riya ko kaha tum aaj raat mere khas kamre me ajana , pooja karna padega, shadhu baba ne riya ko khar kamre me bula liya aur dheere dheere pooja ki bahane nanga kiya, aur bola ki bhut ko tumhara doodh pilana hoga, warna tumhara pati kabhi kisi kaam me safal nahe hoga, riya ne raji ho gayi aur akh band karke apni milky mast boobs ko nanga karke baith gayi.

hindi group sex story
Shadhu baba ne saas aur bahu ko ek sath choda
Raat ke 8 baj chuke the aur baba ko riya ab bhi apni chuchia pila rahi thi tabhi sarita room me dakhil hoti hai. Sarita ab bhi ekdam nangi rehti hai aur wo khsna bed ke side me rakh kar baba ki rajai me ghus jaati hai. Baba to ab bhi riya ki chuchio ko chuse jaa rahe the. Sarita bhi baba ke pith se apni chuchio ko chipka kar ragadne lagti hai. Tabhi baba bolte hai.
Baba- sarita kyu pareshan kar rahi hai mujhe , abhi to tujhe choda tha,ruk ja pehle teri bahu ki chuchio ka dudh pii lu fir tujhe thanda karta hu.
Sarita- baba ek chamatkar kyu nahi kar dete taki meri bahu ka ladka ho jaaye uske baad aap bhi pina aur iska bacha bhi pii liya karega.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Baba- are bahut jald meri riya randi ki chut se tera pota niklega.
Aise bolte hue baba riya ki gaand par apna ek hath lejakar dabane lagte hai aur baba ki ye sab baat sunkar riya bhi garam ho jaati hai aur baba ka lund apne hatho me pakad kar apni chut par malne lagti hai.
Dusri taraf sarita baba ke pith se apni chuchio ko masal rahi hoti hai.
Sarita- baba pehle khana kha lo berna thanda ho jaega.
Baba- ek kaam kar tu khana plate me nikal jak tak teri randi bahu ki chut markar thanda kar du.
Sarita- thik hai baba.

Itna bol sarita rajai se bahar nikal khana lagane lagti hai aur dusri taraf sadhu baba riya ki chuchio se hatkar ab uske upar dono taango ke bich me let jaate hai aur riya se bolte hai.
Baba – kyu randi lund legi mera apna saas ke samne.
Riya- ha baba ab raha nahi jaata.
Baba sarita se bolte hai ki sarita aisi randi bahu kaha se mil gayi tujhe.
Sarita- baba ladke ki pasand ki hai.
Baba- agar ladke ki pasand ki hai to mai nahi chodunga isse.
Itna sun riya tilmila kar bolti hai nahi baba mai tadap rahi hu . kirpa karo baba ye lund dalo meri chut me.
Baba-pehle dpni saas se to izzazat le le madachod.
Riya turant apni saas ko bolti hai ki saasu maa aap ne to sadhu baba ka lund le liya mujhe bhi dalwane do na.
Sarita- are mai kaha mana rahi hu randi. Jaa chudwa le spni chut.
Riya baba se bolti hai ki baba ab to aap choda mujhe.
Baba bhi apna lund riya ki chut par masalte hue bolte hai ki riya apni chut chudwane ke baad apni gaand to marwaegi na. Sach kahu to teri gaand ekdam mast lagti hai.
Riya- baba dard to nahi hoga na meri gand me.

Sadhu baba- halka sa hoga meri randi.
Riya- tab thik hai baba maar lena meri gaand lekin iss waqt meri chut me dalo apna ye hathiyar.
Baba ab bina der kiye riya ki chut par apna lund tika kar ek halka dhakka lagate hai. Riya apni madhosi me baba ko kaske pakad leti hai aur halki si siskari nikalti hai.
Baba bhi riya ke hontho par apne honth rakh kar chuste hai aur riya ki chut me dhere dhere apna lund ghusede jaate hai. Riya bhi niche se apni puri gaand uthakar baba ke lund ko apni chut me dalti hai. Ab baba ka lund riya ki chut me aadhe se jyada ghus chuka hota hai. Riya bhi apne hontho ko baba ke hontho se hatakar bolti hai.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Riya- baba dard ho raha hai aur meri chut me mat ghusao.
Baba- to tu randi kase banegi meri raand. Pura to dalunga hi.
Riya- ahhhh baba halke halke dalo ahhh baba mai to taras gayi thi aisi chudai ke liya. Baba aap bahut ache ho halke halke ghusao baba.
Bsba sarita se bolte hai dekh le rasita jaan kaise teri bahu chudwa rahi hai.
Sarita- ha baba aap bhi to usse chod hi rahe ho . jawan chut ke chakkar me meri jaisi randi ko mat bhul jaana.
Baba- are kya baat keh diya tune aaja tu bhi maidam . dono randio ki chudai aaj ek sath karta hu.
Sarita- nahi baba pehle meri bahu rani ki chudai kar do fir khana khane ke baad hum dono randiyo se maje le lena.
Baba bhi dhire dhire riya ki chut me apna pura lund jadd tak ghusa chuke the. Riya bhi niche se apni gaand utha utha kar baba ke lund ke pure maje le rahi thi. Sath hi masti me badbada rahi thi.

Riya- baba aur jor se chodo mujhe. Randi ban lo mujhe apni chodo baba ahhhh ohhhhh maja aa gaya aur baba jaise spne meri saas ko choda waise hi chodo baba. Meri chuchiya bhi masalo babanikal do saara dudh piyo babs.dhuadhar chudai hone ke baad riya 3 baar jharrd chuki thi aur issi tarah chudai karne ke 15 minute baad baba bhi apna lund rus riya ki chut me gira dete hai aur riya ki chuchio ko jamkar masalte hai.
Sarita bhi apni bahu ki dhamakedar chudai dekhne ke baad uski chut se bhi pani nikane lagta hai lekinfir bhi wo apne aap ko control karke rakhti hai.
Itne me baba aur tiya dono hafte hue bed par baithte hai.
Riya- saasu maa baba ne apki bhi aisi hi chudai ki thi.
Sarita- ha meri bachhi teri chut ko dard to nahi hua na baba ke lund se.
Riya- nahi maa ji ab to mai baba ke lund ke bina reh hi nahi sakti.
Sarita- ha bahu aisa hi mera haal bhi hai Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Baba- are aao meri randiyo apne baba ki god me apni gaand tika kar baitho.
Baba ki iss baat par riya aur sarita dono apni gaand baba ki dono jangho par tika kar baith jaat hai aur baba ko aur khud khana khane lagti hai. Kabhi kabhi to baba riya ke honto pe spna muh rakhkar uske muh se khana khate hai. Aur khud pani pikar sarita ke muh me apne muh se pahi pilate hai. Lekin abb dono saas bahu sadhu baba ki diwani ho chuki thi. Aur ek dam dono besharmo ki tarah baba se ekdusre ke samne hi chudai karwa rahi thi.

Khana khane ke baad riya saae bartan bed se niche rakhti hai. Sarita bed par baba ke gale se lipat kar kiss karti hai aur apni chut ko baba ke lund se ragadti hai. Fir riya bhi apni gaand hilate hue bed par baith jaati hai.
Idhar baba sarita se rasoi ghar se ek gaajar laane ko bolte hai. Sarita turant bed se uthakar gajar laane chali jaati hai. Idhar baba riya se puchte hai ki riya tujhe pehle kabhi chudai me itna maja aaya tha.
Riya- nahi baba. Mere pati to mere jhadne se pehle hi wo jhadd jaate hai. Baba aap mujhe kabhi alag to nahi honge na.
Baba- nahi riya lekin mera saara kehna tujhe manana padega.
Riya- baba aap jo bhi kahoge mai wo sab karungi chahe kuch bhi karna ho.
Tabhi sarita ek mota gazar lekar aati hai aur baba ke bagal me so jaati hai.
Baba- kyu sarita jyada pani nikal raha hai teri chut se.
Sarit- ha baba ab to bas aap chod hi do mujhe.
Baba sarita ko sidha letne ko bolte hai aur phir wo lamba aur mota gazar uski chut me ghused dete hai aur sarita ke upar uski bahu riya ko leta dete hai aur aadha gazar riya ki chut me dalte hai. Dono saas bahu ekdam madhosi me ekdusre se lipti hue hoti hai.

Baba sarita ko bolte hai ki maja aa raha hai ki nahi.
Sarita- baba maja to aa raha hai lekin chut me gazar aage piche hota to aur maja aata.
Baba riya ko bolte hai ki riya apni gaand aage piche kar.
Riya- nahi baba mai nahi karunge. Karungi to gazar meri chut se bahar nikal jaaega.
Tabhi baba riya ki gaand ki ched me apni dhere dhere ek ungli ghusane lagte hai. Riya ko halka sa dard hota hai lekin bardast karti hai.
Fir baba sarita ko bolte hai ki sarita riya ke jism ko kass kar pakad le. Sarita riya ko turant kaskar pakad leti hai. Idhar baba riya aur sarita ki taango ke bich baithkar riya ki gaand ke ched me apni naak rakhkar sunghne lagte hai aur bolte hai.

Baba- riya teri gaand ki khushbu to badi laazabab hai. Aaj to teri gaand maarkar hi rahunga.
Itna bol baba riya ki gaand par thukte hai aur phir apna lund uski gaand par tika kar ek halka sa dhaka lagate hai. Riya ekdam se machal si jaati hai. Aur bolti hai baba thoda dhire pelo dard ho raha hai.
Baba- chup kar saali chut me to gazar gused rakhi hai aur bolti hai ki gaand me tere darad hota hai.
Fir baba riya ki gaand ek aur dhaka lagate hai. Riya iss baar to dard se apni chut ko sarita ki chut par bahut teji se dabane lagti hai. Isase saria ko bhi maja aane lagta hai aur sarita bhi apni gaand uthakar riya ki chut se buri tarah chipka deti hai. Pata nahi gazar kiske chut me gusa hua tha. Fir baba riya ki pith par ludhak par apne lund se uski gaand me ek aur tej dhaka lagate hai. Iss baar to riya se bardast nahi hua aur eo buri tarah chila uthi.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Riya- aaaaaaaa saaleeee kya kiya meri puri gaand faad dali. Mujhe nahi lena tera lund.

Baba riya ki aisi baat sunkar gusse me ek aur akhri dhaka uski gaand me lagate hai aur iss baar to riya ek dam pagal si ho gayi thi aur buri yarah se chatpata rahi thi. Lekin apne aap ko chudda nahi paa rahi thi. Lekin baba ke dhako se sarita ko baba maja aa raha tha kyuki chuki chut me pada aadha gazar aur andar ko khisak raha tha. Riya ki tej chillahat ko band karne ke liye sarita riya ke hotho pe apne hoth rakhkar band kar deti hai. Idhar baba riya ki gaand ko buri tarah se chode chale jaa rahe the. Thodi der baad riya ko thoda aram sa mehsus hua. Aur abb riya bhi baba ke har dhako ka jabab apni gand ko aage piche karke de rahi thi. Aur sarita bhi niche se apni gand uthakar riya ki chut pe apni chut ko chipkaye jaa rahi thi. Aur riya ko kiss bhi kar rahi thi.
Ab tak dono randiya bahut baar jhaddd chuki thi. Idhar baba riya ki gaand aur teji se maare haa rahe the. Riya bhi masti me badbada rahi thi.
Riya- baba faad do meri gaand . aise hi baba aur maro meri gaand kya chodte ho baba. Aah ohhhh aaaaa bas aur haaa haaa baba aur tejjjj.
Baba phir thodi der me riya ki gaand me jhadd jaate hai.

Aur fir baba riya ki gaad se hatkar let jaate hai aur buri tarah se hafne lagte hai. Fir riya pass padi apni penty ko lekar apni gaand se baba ka saara sperm pochti hai. Aur wo bhi sarita se alag hatkar baba ki baho se lipat kar let jaati hai.sarita ki chut me pura gazar ghusa hua hota hai. Sarita gazar ko pakad kar nikalti hai aur rajai odhh kar sone lagti hai. Dusri taraf riya baba se puchti hai ki baba kaisi lagi aapko meri gaand. Aaj to aapne meri gaand ko pua khol diya hai . ab bhi bhi dard ho raha hai.
Baba- meri randi teri gaand to bahut tight thi. Abb to har roj teri gaand maarunga. Marwaegi na tu.
Riya- ha baba jab aapki iksha ho tabhi aap maar lena.
Aur issi tarah wwo teeno ek dusre se lipat kar so jaate hai.
Agli subah baba ji uthe to dekhte hai ki dono randiya unhi ke pass rajai me soi hui hai. Baba dono ko eksath uthate hai. Jab dono uthkar baithati hai to riya bolti hai ki baba mujhe aaj teen din ho gaye iss kamre me. Ab to mai bahar jaa sakti hu.
Baba- ha tum jaa sakti ho.
Riya baba ki baat sunkar bahoot khush hoti hai.
Fir sarita baba ke lund ko apne hatho me pakadti hai. Tabhi baba bolte hai ki abb mai bhi apne aashram me chala jaaunga.

Dono baba ki ye baat sunkar bahut udaas hoti hai aur baba se fauran poochti hai ki kyu baba abhi to hum baise bhi 7 din aapke sath iss ghar me reh hi sakti hai. Fir riya bolti hai.
Riya- baba mai aapke bagair nahi reh sakt. Aap mat jao.
Baba- are mai roj tum dono ko issi bed par chodunga to mujhe maza kaise aaega.
Sarita- baba aap hi batao ki hum aisa kya kare ki aapko humse jyada maza aaye.
Baba- are meri jaan mai ab tum dono randiyo ko khule me chodna chahta hu.
Riya- baba ye kaise ho sakta hai.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Baba- are raat me kheto me chalkar to teri chudai kar hi sakta hu.
Sarita- kyu baba vas meri bahu ko hi chodoge. Fir mujhe kaun chodega.
Baba- are meri raand tujhe bhi chod dunga.
Riya- lekin baba ye kab tak ho paaega. Mere pati aur sasur ke rehte.
Baba- are ek mera bhakt hai wo tum dono ke patiyo ko dubai ka visa dilwa dega. Jisase wo paisa bhi kama sakte hai aur tum dono mere se yaha chudwa bhi sakti ho.

Sarita- thik hai baba fir mai aaj hi apne bete ko bulwa leti hu aur aap mere pati se bhi aaj hi baat kar lo . waise bhi wo dono taiyar ho hi jaaenge. Aur unki biwiyo ko aap apne lund ke paas bhi rakh sakte ho.
Baba – thik hai to fir aaj hi apne bete ko phone kar de aur bulwa le.
Fir sarita bed se uthati hai aur apne kapde pehan kar bahar nikal jaati hai.
Idhar baba riya ko bhi apne kapde pehnane ko bolte hai.

Riya bhi uthkar apni saaree pehan kar baba ke sath kamre se bahar niksl aati hai.
Sarita jab tak naha chuki hoti hai aur khana banane rasoi ghar me chali jaati hai. Baba bhi riya ko rasoi ghar me uski saas ke pass ki ghutno par baitha kar usase apna lund chuswane lagte hai. Riya bhi bade josh me sadhu bava ka lund chuse jaa rahi thi. Idhar ye nazara uski saas sarita dekh kar apni chut masal rahi thi. Tabhi baba sarita ke muh se apna lund bahar nikal kar sarita ki saari piche se uski gaand ke upar tak utha kar apna lund uski gand me dhere dhere ghusane lagte hai.
Sarita ki tej tej chikhe nikalti hai.
Taba baba riya ko apne pati se phone par baat karke usse ghar bulane ko bolte hai. Riya baba ke mobile se apne pati ko phone lagati hai. Uske pati phone uthata hai uska naam suresh tha.

Suresh- hello.
Riya- ha ji mai riya bol rahi hu.
Suresh- ha bolo riya.
Tabhi baba apna lund sarita ki gaand me aur ghusate hai.
Jiski wajah se sarita ki aankhi se aansu nikal jaati hai aur chikne chilane lagti hai. Apni maa ki chikhe sun sureh riya se puchta hai .
Suresh- are ye maa ko kya hua. Kyu cheekh rahi hai.
Riya suresh ki baat sunkar thoda sa hasti hai phir bolti hai.
Riya- are wo sadhu baba aaye hai unhi ke sath pooja kar rahi hai. Unme ek bhoot aa gaya tha uski ko baba nikal rahe hai. Fir rya dubai wali baat suresh ko batati hai.
Suresh ye sunkar khus ho jaata hai aur wo kal hi aane ko bolta hai. Phir phone cut jaata hau.
Idhar sadhu baba apna pura lund sarita ki gaand me ghusa chuke the aur dhakke pe dhakke maare jaa rahe the.
Sarita- aahhhh baba bahut takleef ho rahi hai jaldi se nikalo maar jaaungi mai.
Riya- baba aur dalo iss randi ki gaand me jaise kal aapne meri gaand me dala tha.
Issi tarah sarita ki gand marai me baba ek baar phir se jhadne wale hote hai. Wo apna lund turant nikal kar riya ki muh me ghusa kar chuswane lagte hai. Riya bhi apni saas ki gaand se sane hue lund ko mauj se chuse jaa rahi thi aur aakhirkaar baba riya ke muh me hi jhad jaate hai. Baba ke lund ka saara sperm riya ke muh me hita hai. Tabhi baba riya ko bolte hai ki riya apni saas ke muh me bhi mere lund ka paani chakha de. Phir riya apni saaas ke muh se apna muh sata kar aadha sperm exchange karti hai aur issi tarah dono saas bahu rasoi ghar me maje leti rahi.

Sadhu baba jab sarita ki gand maar ete hai uske baad teeno aangan me naha dhokar khana khake so jaate hai. Teeno teen din ki bhayankar chudai ke baad kaafi thak chuke the.
Raat kareeb 8 baje riya ki aankh khuti hai to wo apni saas aur sadhu baba ko jagati hai. Teeno apna muh dhokar bed par baithte hai. Itne me riya apni saas ke kaan me kuch bolti hai.
To baba puchte hai.
Baba- sarita riya tumhare kaan me kya boli.
Sarita- baba isko khet me jaana hai.
Baba- kyuAap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Sarita- baba isse latring lagi hai.
Bsba- acha to mai bhi riya ke sath chalunga.
Sarita- baba mai bhi chalungi.

Baba- ek kaam karo sarita mai aur riya kheto me chale jaaenge aur tum apne pati rajesh jo ghar ke bahar wale kamre me hai usko dubai wali baat samjha dena. Taki rajesh aur tumhara beta suresh ke chale jaane se tum dono randiyo ki roj chudai kar saku theek hai chalo apne kapde pehan lo.
Riya- lekin baba gate ke bahar to sasur ji hai hum unhe kya bolenge. Aur aap ko bhi raat ko hamare sath chalte dekhenge to kya sochenge.

Baba- are kuch nahi hoga chalo tum apni saari pehan lo. Baaki sab mai sambhal lunga.
Sarita apni saari pehan chuki thi. Riya bhi apni bra aur blouse pehan chuki thi. Jaise hi riya apna peticoat pehanti hai tabhi sadhu baba usse rokte hue bolte hai.
Baba- riya peticoat mat pehno sirf apni saari lapet lo. Kheto me utarni bhi to hai.
Baba ki ye baat sunkar riya thoda muskurate hue sharmati hai. Aur apna peticoat rakhkar upar se sirf saree lapet leti hai aur dono ek ek saul bhi le leti hai kyuki bahar kheto me thand jyada thi.
Ab teeno niche aangan me aa jaate hai aur baba gate kholte hai tabhi bahar sarita aur riya bhi nikalti hai idhar riya ka sasur rajesh jag raha hota hai baba ko dekhar unke hath pao jodkar khada ho jaata hai aur riya aur sarita ko bahar dekhkar pochta hai ki are sarita baba ne to mana kiya tha bahar aane ko phir tum bahu ke sath bahar kyu aayi.

Baba- are nahi rajesh mai hi tumhari khubsurat biwi aur jawan bahu ko bahar lekar aaya hu.
Rajesh- kyu baba.
Baba- are teen din se ghar me kaid thi to thoda mann behlane ke liye laya tha aur tumhare khet me jaakar tumhari bahu ke sath kuch pooja karni hai taki uske pet me bacha aa jaye.
Aur ha sarita tumko kuch baate bategi ummid hai tum khush ho jaoge .
Rajesh – kaisi baate baba.
Baba- are tum aur tumhare bete ko dubaikaam pe jaana hai. Maine saara intjaam kar diya hai. Baaki ki baat sarita tumhe bata degi. Mujhe tmhari bahu ko jaldi se lekar jaan hai khet me.
Rajesh- theek hai baba Lejao
Sarita rajesh ke bahar wale kamre me lekar jaati hai aur idhar baba riya ki gaand ko masalte hue kheto ki taraf chal dete hai.
Raste me baba riya se poochte hai.
Baba- riya ab to tum khus ho na.
Riya- kaise khush baba.
Baba- are tere mard ko mai bahar bhej raha hu aur tujhko apne lund par din raat baithaunga. Iski khushi hai ki nahi.
Riya- ha baba mai bahut khush hu. Aisi khusi to kismat waliyo ko hi milti hai.
Baba riya ki baate sunkar mast hue jaa rahe the. Tabhi riya ko beech sunsaan raaste me rokte hai.
Riya- kya hua baba aapne mujhe roka kyu.

Baba- are randi mai teri chut ke niche baithkar chalna chahta hu.
Riya- chut ke niche kaise baithoge baba.
Riya ke itna poochte hi baba riya ki saaree ke andar ghus kar baith jaate hai. Aur riya ki chut par dhero kiss karne lagte hai

Idhar chut par kiss ki wajah se riya bhi mast hue jaa rahi thi.
Riya- baba thoda dheere ahhh aap hi mere pati hote baba to kitna maja aata.
Aise hi riya chalne lagti hai aur uski saree ke andar ghuse hue baba bhi baithe baithe chalne lagte hai.
Riya ki kabhi chut par to kabhi gaand ke ched me baba apni ungli ghusate rehte hai.
Tabhi kheto ki taraf se khuch aurte aati hai.riya unhe dekhkar sadak par ruk jaati hai aur baba ko bolti hai.
Riya- baba abhi meri gaand me ungli mat karna . gao ki aurte aa rahi hai.saree ke andar baba bhi riya ki gaand se apni ungli nikal uski gaand ki taraf apna muh karke baith jaate hai aur riya ki jaangho ko pakad kar uski gaand ke ched ko chusne lag jaate hai.
Idhar wo aurte bhi kheto se latring karke aati hai aur riya ko dekhkar bolti hai are riya tu itne dino se na to tu aur naa teri saas dikhi kaha thi tum dono.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Riya- kahi nahi maa ji ke maike shadi me gayi thi hum dono.
Tabhi wo aute bolti hai ki theek hai jaavjaakar hagg le bahut raat ho gayi hai.
Itna bol wo sabhi aurte waha se chali jaati hai.

Idhar riya bhi apne khet me pahuch jaate hai aur baba ko hatne ke liye boti hai.
Lekin baba kuch bhi sunane ko taiya hi nahi the wo to bas apni jeebh nikal kar riya ki gaand ko chaate jaa rahe the. Riya bhi pareshan hokar apni saul ko ek taraf rakhti hai aur phir apni saree kho deti hai.
Ab to riya sur apni blose me thi.baba ab bhi riya ki gaand ko chuss rahe the.
Tabhi riya bolti hai are baba baad md aap meri gaand ko chuss lena lekin abhi hato mujhe latring karni hai bahut tezz lagi hai. Tab baba riya ki gaand se hat jaate hai aur riya wahi par baith kar baba ke samne hi hagne lagti hai. Tabhi baba riya ko bolte hai.
Baba- are riya tu to hag rahi hai aur mai yaha bekar me baith hu.
Riya hagte hue bolti hai kyu baba mujhe latring karte dekh aapko maja nahi aa raha.
Baba- are randi iss raat ke andhere me teri gaand me se kuch bhi nikalta to dikh nahi raha to kya maja aaega.
Riya- acha ek kaam karo baba aap apna lund mere muh me daalo mai jab tak aapka lund chussti hu.
Baba riya ki ye baat sunte hi riya ke samne khade hokarapna lund pesh kar dete hai. Ifhar riya bhi hagte hue baba ka lund chusti rehti hai.
Jab riya hag leti hai aur uth kar apni saari jaise hi uthati hai ki baba usse mana karte hai aur bolte hai kiriya apni gaand to dho lo.

Ria- baba wo to mai ghar par hi dhoungi.
Baba- kyu.
Riya- are baba yaha paani kaha hai ki dhoungi.
Baba- ek kaam karo muhje peshab lagi hai tum ussise dho lo.
Riya- thik hai baba. Mai bhala aapka kehna kaise taal sakti hu.
Itna bol riya ghodi bann kar baba ke samne apni gaand kar deti hai aur baba bhi uski gaand par ek tezz dhar apne lund se marte hai wo seedha riya ki gaand ke ched par hi lagti hai. Aise najare se baba aur bhi mast ho gaye the tabhi riya ko bolte hai ki riya apne haath se apni gaand ko malke dho.
Tabhi riya bhi apne hath apni gaand pe lejakar baba ke peshab se ragadti hai. Jab riya apni gaand dho leti hai tabhi baba bhi apni peshab rok lete ha. Jaise hi riya baba ki taraf mudti hai baba usi hatho pe phir mutne lagte hai aur riya ko apne haath saaf karne ko bolte hai.
Riya bhi baba ke peshab se apne hath ko dhone lagti hai.
Phir baba riya ko wahi uski saul jameen par bichakar sulate aur aur uski chut me apna lund ek baar phir ghusakar chodne lagte hai. Khule aasama me iss chudai se riya aur masti me chudwaye jaa rahi thi aur sath hi badbada bhi rahi thi.
Riya- chodo baba faad do iss chut ko aaahhh maaaro baba aur tezz dhakkkee lagaooo aahhh marr gai mai. Aise hiiiii haa baaba aurr choodo bhosda bana do mera aaahhh ohhhhh mai nikalne wali hu baba.
Lagbhag 10 min ki tabartod chudai ke baad sadhu baba aur sarita dono ek hi sathh khet me jhaddd jaate hai. Riya apni saari pehan leti hai aur phar dono ghar ki taraf chsl dete hai.
Jab riya aur baba ghar pahuchte hai. Wo seedhe aangan me aa jaate hai unhe dekh sarita samajh jaati hai ki bahu randi ne jamkar chudwaya hoga aur sarita bhi ghar ke andar ghus kar darwaja band kar leti hai. Aur riya apne kapde utar kar apni kamar ke niche ke hisso ko sabun se ragad kar dhone lagti hai.

Riya nal ke pass sadhu baba ke peshab joki uske badan par lage hue the usko dho rahi hoti hai. Sirf wo blouse pehne hue thi. Sadhu baba uska ye roop dekhkar apna lund khada kar rahe the ki riya ki saas sarita aangan ka darwaja band karke baba ke pass aakar khadi ho jaati hai aur baba ki dhoti me khade lund ko niharne lagti hai. Fir achanak sarita baba ke lund ko apne hatho me pakad kar dabane lagti hai. Baba bhi riya ki khoobsurat jawani dekhkar garam ho gaye the to baba ne bhi wahi riya ke samne sarita ki saaree ke upar se hi uski gaand par hath rakhkar masalte hai ki sarita jor se siskari nikal deti hai.
Sarita- baba abb sabar nahi hota chod do mujhe.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.
Baba- are randi ruk jara aaj tujhe jamar chodunga. Pehle tu jaakar kamre ko thik karke aa.
Sarita itna sun turant bahu ke kamre me jaati hai aur bed ko sahi karne lagti hai . idhar baba riya ki nangi gaand ko dekh rahe the. Riya fir baba se bolti hai.
Riya- are baba abhi thodi der pehle khet me choda tha mujhe tabb bhi aapka mann nahi bhara kaho to abhi mai kutiya ban jau taki aap chodkar apna lund shant kar lo.
Baba- saali hab tere pati ko dubai bhej dunga tab tujhe randi banaunga.
Riya- are baba wo to mai aapki randi hu hi. Aaj jo kahoge waisa hi mai karunga
Baba ye sunte hi khus ho jaate hai.
Riya fir baba se puchti hai ki baba aaj batao mai aise hi nangi rahu ya kapde pehan lu.
Baba- ek kaam kar madarchod aaj tu bra panty peticoat blouse aur upar se ek dupatta oddh le.
Riya wahi kapde pehane lagti hai. dosto kaisi lagi saas aur bahu ki chudai ki kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisine rendi saas aur rendi bahu ki chudai karna chahte ho to add karo Riya Sharma  & Saarita Sharma

Meri shamuhik balatkar ki sex kahani

Dosto aaj jo hindi sex kahani batane jaa raha hu wo meri rape sex kahani hai. aaj main bataungi kaise meri rape huyi thi, kaise 4 admin ne mujhe balatkar kiya, kaise meri gandh mara, kaise meri chut me ek sath do lund dala, kaise chod chod ke meri chut faad diya, kaise gand mar mar ke bada kar diya, ye ek sacchi balatkar ki kahani hai.Ek raaat office se nikalte hue..Maine jaldi jaldi apni saree thik ki…aur office ka darwaza bandh kar ke chali…Meri car parking main door andhere kaune main akeli padi hui thi..Bahut joro se barish ho rahi thi aur badal bhi jam kar garaj rahe the.Main puri tarah bhig chuki thi aur thande paani se mere blouse ke ander meri nipple ekdum tight ho gayi thi…



Mera blouse mere khile hue joban ko dhankane ki nakayamab koshish kar raha tha. mere 2/3 mammae blouse ke low cut hone ki wajah se aur saree ke bhig jaane se ekdum saaf dikh rahe the, jaldi jaldi main chalne ki wajah se mera pallu idhar udhar ho raha tha jiski wajah se mera navel dekha ja sakta tha..Main aam taur pe saree navel ke ekdum niche pahneti hoon aur kabhi bhi saree ke ander petticoat nahin pehnti hoon. Poori tarah bhig jane ki wajah se, main virtually nangi dikh rahi thi kunki meri saree mere pure jism se chipak chuki thi.Main jaldi jaldi apni car ke pass pahunchi, mujhe mere aaspass kya ho raha tha uska bilkul ehsaas hi nahin tha. Maine dekha ki meri woh akeli hi car wahan pe thi. aur wahan ghana andhera chaya hua tha. Barish ekdum joro se baras rahi thi. Main corner pe moodi aur apni car ke pass aa ke apni purse main se chabi nikalne lagi..Achanak mujhe ek jor ka dhakka lagaya gaya aur main apni car ke samne ja takrayi..”Hilna maat kuttiya!”.Mujhe mehsoos hua ki kisi taqatwar mard ka jism mujhe meri car ki taraf push kar raha tha…Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. Uska push karne ka force itna taqatwaar tha ki usne mere phenphdo se sari hawa nikal di thi jiski wajah se bilkul chilla bhi na saki. Main ek dum ghabra gayi.. Barish itnee tez ho rahi thi ki aaspass ka bilkul dikhai nahi de raha tha. Aur jahan meri car park hui thi wahan mujhe koi dekh nahin sakta tha.Woh mujhe har jagah chhune laga..Uske haath bahut mazboot the..mano lohe ke bane ho…Usne mera pallu khinch ke nikaal diya..aur mere mammo ko jor jor se dabane laga..aur meri pehle see tight hui nipple ko masalne laga.

woh gurrayya.Uski is awaz ne mano mujhe behoshi main se uthaya ho aur maine bhagne ki nakam koshish ki..Phir usne mere ek mammae ko chhod ke mere gile hue balo se mujhe khincha. “ahhhhhhhhh…” main jor se chillayi aur maine uske samne ladna band kar diya..“Maderchod teri maa ki chut me mera lund tum zinda rehna chahti ho to…thik tarah se pesh aa samjhi kuttiya..abhi main tumhe apni taraf dhire se mod raha hoon…agar zara bhi hoshiyari dikhayi tooooooooo…..!” Usne mujhe dhire se apni taraf moda is dauran usne apna badan mere badan se sataye rakha..Uska lavda mere gile badan ko ghish raha tha, aur meri choot main thodi sarsarahat hui…”I cannot be turned on by this” mere jehan main ye sawaal ubhra. Maine upar dekha..maine is baar use pehli baar dekha. Woh ek lamba chauda aur kala mard tha..Usne apne sharir par ek pant aur sar par topi ke alawa kuch nahin pehna tha..Uska body ka statute mujhe pehalwaan ki yaad dila gaya. Woh ekdum kala aur darawna tha aur aise andheri raat main mujhe sirf uski ankhen aur uske kaale jism se dodti hui baarish ki boondein hi nazar aati thi… Main darr se thar thar kampane lagi..woh kariban mujh se 11/2 foot lamba tha. Main usse daya ki bheekh mangane lagi aur mujhe maaf karne ko kehne lagi.
“Please..Please mujhe mat maaro.”..”Chhhht..” Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. ek jordar thappad mere gaal pe aa gira… banchod office main boss ki god main baith ne main maza attahi our yaha sati savitry bantihai mujhe to aisa laga ki mujhe tare dikh gaye lekin haqeqat main to woh bijli thi..Usne mujhe mere baalon se upar khincha karebaan apne moonh taak….”Please mujhe jaane do…main tumhe jo chaho woh de dungi..Dekho mere purse main paise hain..tum woh sare ke sare le lo…” main gidgidayi.

Woh mere samne jor jor se hansne laga aur kaha “Dekh haramjadi mujhe tere paise nahin chahiye..mujhe to teri woh kasi hui tight chut chahiye..Main teri us chut ko aise chodunga ki tu jindagi bhar kisi mard ka lund nahin magegi”..Uski baton se mujhe to mano kisi saanp ne sungh liya ho aisi halat ho gayi. tabhi mujhe khayal aaya ke mera rape honewala hain..Main hamesha soch ti thi agar tum apne aap ko kabhi aisi position main pao to apne aap ko ek bevkoof samjho lekin taqdeer ne mujhe hi is mode pe la rakha tha…Main bahut gabhra gayi thi aur pata nahi chalta tha ki main kya karu.. Barish pure jooro se baras rahi thi aur badalo ki gadgadahat aur bijli ke chamak ne pure aakash ko bhar liya tha.wo mujhe zabardasti nanga kar diya, phir meri baloko jor se pakad ke apne taraf khuch liya, aur meri boobs ki nipple muh me lekar chusne laga , itni jor jorse nipple chus raha tha ki meri nipple se dudh nikal rahi thi , meri boobs me milk nahee thi tabhi lag rahi thi ki meri boobs se doodh nikal rahi thai aur wo pee raha tha.. ause hi karte karke wo meri choot me ungli daala aur jor jorse agye piche karne laga.. phir mujhe zabardasti laita diya aur meri do thenge ke bich agaya,.. aur meri haath bandh diya, aur meri choot me jibh daal ke chatne laga aur chusne laga .. meri chut itna jorse suck kar raha tha ki meri andar ka saare pani uska muh me jaa raha tha jaise vakuam cleaner ki tarha sock le raha tha.. phir wo apna pand utar ke ek 9 inch ka kala mota lamba lund nikala aur meri chut ki muh me set karke ek jorse dhakka mara aur pura ka pura lund meri chut me ghusa diya,Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai.

phir wo meri baalon ko pakad ke jor jorse chod raha tha aur me chilla nahee pa rahi thi keyu ki wo meri muh me apni hi panty ghus dia tha.. phir wo mujhe ghodi banaya aur piseche meri chut me lund dala aur jor jorse ghode ki tarha jhatka maar raha tha .. bohud dard ho rahi thi meri chut me .. laag rahi thi kisi garam loge ka dand meri chut se navel taak daal raha hai.. aise hi 5 min taak chudai ke baaad wo meri gand me thuk lagaya aur ek jhatka diya to pura ka pura lund meri gand ki ched chirkar andar chala gaya.. wo meri gaand mar mar ke bada kar diya, meri gand se khun nikal raha tha.. aise hi mujhe rape karke wo bhag gaya.. main dheere dheree utha .. aur mujhe sambhalne ki koshik ki .. lekin thori der ke baad me behush ho gayi thi.. jab meri akhe khuli to dekhi main hospital me  hai.. Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. kaisi lagi meri rape sex kahani.. acha lage to share karo .. aab me rendi ban gayi hu .. agar kisine meri chut ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/Urmila Kumari

हनी भाभी की चूत और गांड मारा घोड़ी बनाकर

हेलो दोस्तों, आज जो देवर और भाभी की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी हनी भाभी की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे भाभी को चोदा, कैसे छोटी भाभी को नंगा करके चोदा,भाभी की बूब्स चूसा,कैसे भाभी की चूत चाटी, कैसे भाभी को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से भाभी की चूत मारी,  भाभी की गांड मारी , कैसे भाभी की चूचियों को चूसा और खड़े खड़े भाभी को चोदा । भाभी मेरी पड़ोसन है, वो अपने हसबैंड के साथ रहती है, पर उनका हस्बैंड किसी गलत काम में फस गया और उसी को छुड़ाने के मुंबई जाना पड़ा, हम दोनों शाम को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से मुंबई के लिए रवाना हो गए, वो बहुत ही चिंता में थी, की पता नहीं क्या होगा, मेरा एक दोस्त है मुंबई में उसके पापा एक बहुत ही अच्छे वकील है,



मैंने उनको फ़ोन किया तो वो मुझे दूसरे दिन १० बजे बुलाये, मैं और हनी भाभी उनके दफ़्तर में ११ बजे पहुंच गए क्यों की ट्रैन थोड़ी लेट हो गई थी, फिर सारा पेपर उन्होंने बनाया, और फिर हमलोग सारे कागजात जमा करवाये, उनको छूटने में तब भी ७ दिन लग जाता, दिन भर इधर उधेर का चक्कर काटते हुए शाम हो गया, मैंने हनी भाभी से कहा भाभी अब हमलोग कही होटल ले लेते है, और रात बिता के कल सुबह ही हम दोनों दिल्ली चले जायेंगे, अभी तो सात दिन लगेंगे तो यहाँ रहने से कोई फायदा नहीं, सारा काम हो गया है, तो वो बोली हां ठीक है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर हा दोनों ने खाना खाया और बगल में ही एक होटल था वही कमरे में किराये के लिए गए, मैंने कहा की दो कमरा चाहिए, क्यों की मुझे अच्छा नहीं लग रहा था की मैं एक अकेली औरत के साथ एक ही होटल के कमरे में रहू, कही भाभी के हसबैंड को पता चलेगा तो अच्छा नहीं होगा. तो हनी भाभी ही बोली अलग अलग कमरा क्यों ले रहे हो, एक ही ले लो बस बेड अलग अलग होनी चाहिए, तो मैंने कहा देख लीजिये मुझे कोई आपत्ति नहीं पर भैया? तो बोली क्यों ज्यादा पैसा खराब करना रात तो ही काटनी है, भैया को पता चलेगा तब तो मैं उन्हें कह दूंगी की अलग अलग कमरे में थे, ऐसे भी आप मेरे लिए इतना कर रहे हो ये क्या काम है क्या?

तो मैंने कहा नहीं नहीं भाभी ये तो मेरा फ़र्ज़ है, मैंने एक पडोसी होने के नाते आपको मैं इस तरह से अकेला नहीं छोड़ सकता, फिर हम दोनों होटल के कमरे में शिफ्ट हो गए, वह जाकर फ्रेश हुए, पर हनी भाभी बहुत ही ज्यादा चिंता में थी, पर मैंने समझाया की अब आपको चिंता करने की कोई बात नहीं है, सब ठीक हो जायेगा, फिर वो थोड़ी नार्मल हुई, बोली की नीरज एक काम करते है, एक तो दिन भर का थकावट है और मुझे काफी टेंशन हो रही है, आप बाहर जाके एक बोतल व्हिस्की ले आओ, मैंने कभी कभार पि लेती हु, आज तो लगता है इसकी जरूरत है.आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने कहा भाभी आप पीती हो तो बोली नहीं नहीं हमेशा नहीं कभी कभी पीते है, आज तो सर फटा जा रहा है, आज तो हो ही जाये, मैं तुरंत ही बाहर गया क्यों की उस होटल में शराब परोशने पे पाबन्दी थी, फिर क्या था मैं तुरंत ही बाहर गया और एक बोतल व्हिस्की और फ्राइड चिकन ले आया, जब वापस आया तो देखा भाभी एक पिंक कलर की नाईटी में थी, वो बहुत ही ज्यादा खूबसूरत और हॉट लग रही थी, मैंने तो उनको देखा तो देखते ही रह गया क्यों की उनके बाल खुले थे, भाभी की चुचिया बड़ी बड़ी हिल रही थी क्यों की वो ब्रा अंदर नहीं पहनी थी, जब वो घूम रही थी तो भाभी की चूतड़ पे मेरी निगाह थी क्यों की पेंटी जिधर से होक चूतड़ पे गया वो दिख रहा था क्यों की नाईटी ही स्लेक्स की पतली सी थी, क्या बताऊँ दोस्तों बोतल तो मेरे हाथ में था पर नशा चढ़ गया था दारु का नहीं बल्कि हनी भाभी का.

भाभी बोली ए मिस्टर क्या देख रहे हो. मैं अकबका गया, बोला नहीं नहीं भाभी जी कुछ भी नहीं बस यूं ही, और वो मुस्कराने लगी, सच तो ये है की हनी भाभी की उम्र २३ साल है उनके कोई बच्चे भी नहीं है, और भरपूर जवानी से वो तर बतर है,  उसके बाद मैंने दो ग्लास लेके सोडे के साथ मैंने मिक्स किया और चिकन रखा, फिर पग पे पग लेने लगे, करीब आधे घंटे तक हम दोनों पीते रहे और फिर हनी भाभी को काफी नशा आ गया, और वो कहने लगी, क्या बताऊँ नीरज, मैं बहुत ही बड़े घर की हु, काफी पढ़ी लिखी भी हु, पर मैंने ये जो लव मैरिज किया है, उससे मैं खुश नहीं हु, आये दिन कुछ ना कुछ प्रॉब्लम होते ही रहता है , अब सोचती हु की काश मेरे माँ पापा मेरी शादी करते तो ज़िंदगी कुछ और होती,फिर थोड़े देर बाद बोली चल यार छोड़, आज की प्रॉब्लम को समाप्त करते है, और कुछ एन्जॉय करते है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। पर एक प्रोमिस करनी है आपको, ये बात आज किसी को भी मत बताना, मैंने कहा क्या बात है भाभी? तो बोली आज मैं तुमसे सेक्स करना चाहती हु, मै तो खुद ही मूड में था, मैंने कहा आपकी जो आज्ञा, मैं कैसे टाल सकता, आप चिंता ना करो मैं किसी को बताऊंगा भी नहीं, और वो नाईटी उतार दी, मेरे सामने वो सिर्फ पेंटी में थी, ओह्ह्ह्ह संगमरमर का बदन लग रहा था उसपर से टाइट टाइट चूचियों बीच में पिंक और ब्लैक का मिक्स कलर निप्पल, ओह्ह्ह्ह क्या बताऊँ मैं तो टूट पड़ा उनके चूच पे, वो भी आराम से लेट गई,

और मैंने उनके चूच को चाभने लगा, क्या सीन था मेरे दोस्त. पेट सुराही के तरह लग रहा था, जांघे गोल गोल, मैंने पेंटी उतार दी, चूत के पास जाकर देखा तो पूरा एरिया पानी पानी हो गया था.पहले तो मैंने भाभी को खूब किश किया और फिर अपना लैंड उनके मुह में और उनका चूत मेरे मुह में 69 की पोजीशन में दोनों आ गए और जम कर एक दूसरे के प्राइवेट पार्ट को चाटे, उसके बाद तो हनी भाभी के चूत से हनी निकलने लगा पर वो मीठा नहीं बल्कि नमकीन था, उसके बाद हनी भाभी बोली अब बर्दास्त नहीं हो रहा है मेरे चूत में घुसाओ अपना मोटा काला लंड, फिर मैं भाभी को चोदने लगा, हम दोनों फुल नशे में थे, करीब ३० मिनट तक चूत चोदने के बाद मैंने उनको उलट दिया और गांड में लंड डाल दिया थोड़ा सा थूक लगा के, फिर रात भर करीब गांड मारे करीब चूत, यही होते रहा. आज शाम को हम लोग दिल्ली पहुंचे है और मैंने ये कहानी लिखी है, आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी जरूर रेट करें, कल मैं हनी भाभी के घर फिर जाऊंगा,आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।  कैसी लगी हम डॉनो देवर और भाभी की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी भाभी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Pyasi Haani Bhabi

गर्ल फ्रेंड की कुंवारी चूत की सील तोड़ने की कहानी

हेलो दोस्तों, आज जो टाइट चूत की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो एक प्यारी सी कुंवारी चूत की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे कुंवारी चूत को चोदा, कैसे कुंवारी चूत चाटी, कैसे घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से कुंवारी चूत मारी, कैसे चूचियों को चूसा और खड़े खड़े चोदा । कैसे कुंवारी चूत को ठोका । जो कहानी की हीरोइन है वो है गरिमा, बहुत ही सुन्दर बहुत ही कोमल पतली सी बूब्स साइज का जिसके छूते ही मजा आ जाता है, उसकी अदाएं गजब की, मस्त चाल, क्या स्लीक बॉडी है मेरे यार, देखो मेरा लंड फिर तन गया है, गजब की है, मुझे ये मौक़ा मिला उसकी नन्ही सी चूत को चोदने का तो मैंने सोचा क्यों ना निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम के दोस्तों को भी पढ़ाया जाए, मुझे ये वेबसाइट बहुत ही अच्छा लगता है,

गर्ल फ्रेंड की चुदाई


मैं अभी आई आई टी का तैयारी कर रहा हु और वो भी 12th में है, मेरी मम्मी और उसकी मम्मी दोनों दोस्त है, बहुत ही अच्छा रिश्ता है, तो आसपास कोई अच्छा इंस्टिट्यूट नहीं था इस वजह से गरिमा की मम्मी बोली की बेटा कभी कभी इसको मैथ्स में हेल्प कर दो, मै ये नहीं कह रही हु की रोज रोज करो पर जब भी तुम्हे थोड़ा फुर्सत मिले प्लीज हेल्प कर दो, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने सोचा चलो हेल्प कर देते है, और फिर मैंने कहा ठीक है जब भी मैं थोड़ा भी फुर्सत में रहूँगा मैं गरिमा को बुला लूंगा, मेरी तो गर्ल फ्रेंड है पर वो मुझे कभी चोदने नहीं दी है, मुझे अब चुदाई करने का मन करने लगा था तो मैंने सोचा चलो, गरिमा को ही पटाने की कोशिश करता हु, अगर मान गई तो बहुत ही अच्छा होगा क्यों की वो मुझसे आराम से चुदवा सकेगी क्यों की मैं तभी ऑफर करूँगा जब कोई घर में नहीं होगा और हो सकता है वो मान जाएगी.मैंने उसको एक दो दिन में उसको बुलाना सुरु कर दिया, और मैं पहले उसके मम्मी का और अपने मम्मी का बिस्वास जितने के लिए उसको तब बुलाया जब उसकी मम्मी मेरे मम्मी से मिलने घर पे आई तभी मैंने उसको फ़ोन किया की आ जाओ गरिमा मैं फ्री हु, वो भी आ जाती थी फिर ये सिलसिला चलता रहा, मैंने धीरे धीरे उसको पटाने की कोशिश करने लगा, और वो भी अच्छे तरीके से मेरे हाथ में आ गई, मैंने उसको दोस्ती का ऑफर दिया और वो मान भी गई, अब हम दोनों एक दूसरे से काफी अच्छे तरीके से बात करने लगे.

और दोस्त बन गए, वो अब मेरे से पर्सनल बात भी शेयर करने लगी, धीरे धीरे करीब आने लगे, उसका बर्थडे था मैंने उसको अपना बाह फैला कर कहा हैप्पी बर्थ डे गरिमा वो भी बाहों में आ गई, पहली बार उसके चूच सटने का एहसास हुआ, मेरी तो धड़कन बढ़ गई थी, फिर धीरे धीरे नार्मल हुआ, लग रहा था कास ऐसे ही बाहों में झूलते रहते पर ये कमबख्त समय जो है वो पता है जल्दी निकल जाता है बस ये एहसास सिर्फ 8 सेकंड के लिए ही हुआ था.एक दिन की बात है, मेरी मम्मी मां जी के यहाँ गई थी, गरिमा के पापा और उसके भाई कही उसके भाई को एग्जाम दिलवाने ले गए थे शहर से बाहर, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। गरिमा की मम्मी किसी रिस्तेदार के यहाँ गई थी, जैसे मुझे पता चला की गरिमा अपने घर में अकेली है, तो मैंने उसको व्हाट्स अप्प किया की गरिमा कहा हो आ जाओ आज मैं फ्री हु आज तुम्हारी मैथ्स की दो चैप्टर कोम्प्लेटेर करा देता हु, उसने कहा ठीक है और आ गई, क्या बताऊँ दोस्तों आज वो स्लीव लेस्स टी शर्ट वो भी काफी टाइट पहनी थी, और निचे स्कर्ट वो भी शार्ट. गजब की लग रही थी, मैं उसको देखकर हैरान रह गया की इतनी हॉट है, मैंने पूछा गरमा आज तो बड़ी हॉट लग रही है, तो बोली ये हॉट बस पांच बजे तक ही रहूंगी क्यों माँ ये सब कपडा पहनने नहीं देती है, इस वजह से मैं नहीं पहनती हु, माँ आज घर पे नहीं है इस वजह से मैं ये ड्रेस पहनी हु.

मैंने अंदर बुलाया वो बैठ गई हम दोनों पलंग पे बैठ गए, मैंने कहा चैप्टर निकालो, पर मैं उसका ये रूप देखकर चैप्टर के बारे में सोचना ही बंद कर दिया और बस उसकी टाइट चूचियों को और उसकी गोल गोल जांघो को ही निहार रहा था, मेरा तो लंड काफी मोटा हो गया और मेरी धड़कन तेज हो गई थी, फिर मैंने किसी तरह अपने आप को संभाला और फिर इधर उधर की बात करने लगा पर मेरे मन उसको चोदने को करने लगा, मैंने धीरे धीरे उसके जांघ पर हाथ रखा वो कुछ भी नहीं बोली, सिर्फ मुस्कुराई, फिर मैंने कहा गरिमा मैं आज तुमसे कुछ मांगना चाहता हु, अगर तुम मना नहीं करो तो, तो वो बोली अगर मेरे पास होगा तो जरूर दूंगी, ऐसे भी तुम मुझे फ्री पढ़ा रहे हो, तो मैंने उसको प्रोमिस करवाया की किसी से नहीं कहना है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उसको फिर अपना कसम दिया वो मान गई, बोली नहीं बोलूंगी.मैंने कहा मुझे एक किश चाहिए वो पहले ना ना की फिर मैंने उसको थोड़ा अपने करीब बैठा लिया और पीठ सहलाने लगा, और उसका मुह अपने सामने कर के उसके होठ को चूम लिया, फिर दुबारा किश नहीं बल्कि चूस लिया आप नहीं मानोगे यारो इमरान हासमी भी फ़ैल था मेरे चूमने के स्टाइल में पर उसका असर ये हुआ की वो मेरे से लिपट गई और मैंने उसके टी शर्ट के अंदर हाथ डाल के उसके चूचियों को दबाने लगा फिर क्या था वो तो धीरे धीरे मुझे सौंप दी अपने आप को फिर मैंने उसके स्कर्ट को ऊपर कर दिया

और पेंटी में हाथ डाल के चूत को सहलाने लगा, वो तो लेट गई फिर मैंने उसकी पेंटी उतार दी, मेरा लंड खड़ा हो गया था मैंने अपना लंड निकला लिया, और गरिमा के हाथ में दे दिया ,वो हिलाने लगी मैंने कहा मुह में ले ले पर वो मना कर दी, मैंने भी कुछ नहीं कहा मैंने गरिमा की टांगो को फैलाकर गरिमा की चूत को देखा, क्या बताऊँ दोस्तों टाइट सी चूत थी उसकी, देख कर मैं गरम हो गया, और अपना लंड उसके चूत पे रख दिया वो बोली प्लीज धीरे धीरे करना, मैंने अपने लंड पे थूक लगाया और अंदर घुसाने लगा, पर छेद इतना छोटा था की लंड जा ही नहीं रहा था, मेरा लंड मोटा और काफी लम्बा है, मैंने धीरे धीरे कोशिश किया और थोड़ा थोड़ा जाने लगा और करीब दस मिनट के बाद अंदर गया पर उस समय तो उसके चूत का मैंने सत्यानाश कर चूका था फट चुकी थी उसकी चूत, फिर चुदाई शुरू हुआ, जोर जोर से अपना लंड अंदर बाहर करने लगा, गरिमा के मुह से एक भी आवाज निकल रही थी, प्लीज धीरे करो दर्द हो रहा है, प्लीज धीरे प्लीज धीरे, पर मैं कहा रुकने वाला था मैं करीब उसको आधे घंटे तक चोदा फिर मेरे झड़ गया,थोड़े देर तक गरिमा के ऊपर ही पड़े रहे फिर अलग अलग हो गए, गरिमा बाथरूम गई और साफ़ की, वो लंगड़ा के चल रही थी, मैंने कहा दर्द हो रहा है क्या तो बोली कोई बात नहीं थोड़े देर में ठीक हो जायेगा, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और फिर हम दोनों एक दूसरे को रोज रोज खुश करने लगे,कैसी लगी हम डॉनो की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई गरिमा की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Gorima Sharma

नौकरी के बदले नई नवेली दुल्हन की चुदाई

हेलो दोस्तों, आज जो नई नवेली दुल्हन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी बॉस की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे नई दुल्हन को चोदा, कैसे नई दुल्हन को नंगा करके चोदा,नई दुल्हन की बूब्स चूसा,कैसे नई दुल्हन की चूत चाटी, कैसे नई दुल्हन को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से नई दुल्हन की चूत मारी, नई दुल्हन की गांड मारी , कैसे नई दुल्हन की चूचियों को चूसा और खड़े खड़े नई दुल्हन को चोदा । कैसे नई दुल्हन की कुंवारी चूत को ठोका । मेरे ऑफिस में एक लड़की इंटरव्यू देने आई थी, उसका नाम था मोहिनी, सच पूछिये तो जब वो मेरे केबिन में आई, मैं उसको देखकर फ़िदा हो गया, बहुत ही सुन्दर गोरी, लम्बी, सॉलिड चूचियाँ जो आगे की और तनी हुई, गोल गोल चूतड़, जांघे परफेक्ट शेप में,

नई दुल्हन की चुदाई
नौकरी के बदले नई नवेली दुल्हन की चुदाई


कही से भी कोई कमी नहीं लग रही थी, उसकी मुस्कराहट और आँखे जब वो देखती थी, सच पूछो यारो बिना सावन के बरसात हो जाये ऐसी थी, गुलाबी होठ जो की बिना लिपस्टिक लगाए हुए, मैंने तो पहली नजर में फ़िदा हो गया था मोहिनी पर सच पूछिये तो वो मुझे मोहित कर दी थी,स्टार्ट हुआ इंटरव्यू, मैं अकेले ही उसका इंटरव्यू ले रहा था, वो सब कुछ बड़े अच्छे तरीके से बताई, पर कई जगह मुझे ऐसा फील हुआ की वो मेरे कंपनी के लिए फिट नहीं है इस्सवजह से मैंने उसको कहा की मोहिनी आपको मेरे कंपनी में काम करने के लिए ये सब की जानकारी होनी जरूरी है, अगर आप इस विषय में परफेक्ट होते तो मैं आपको जॉब पे रख लेता, वो कुछ भी नहीं बोली, पर जब वो मुझे देखि तो मैंने देखा उसके आँख में आंसू थे, मैंने पूछा की क्या रीज़न है आपके आँख में आंसू कैसे, आप अच्छी है, आपको कही भी जॉब लग जाएगी, मेरे कंपनी में नहीं तो कही और, आपको इस तरह से रोने से कोई फायदा नहीं है, पर आप बुरा ना माने तो मैं जान सकता हु की आप क्यों रो रहे है,मोहिनी बताने लगी, सर, मैं उत्तर प्रदेश की हु, अभी मैं राजस्थान में एक महीने से रह रही हु, मैंने अपने ज़िंदगी में एक गलत कदम उठाया है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने अपने माँ बाप के खिलाफ लव मैरिज की है, मैं फंस गई हु, वो लड़का मुझे धोखे में रखा है, वो कहता था की मैं एक कंपनी का मैनेजर हु, मैंने ये हु मैं वो हु,

मैं उसपर विस्वास कर ली और शादी कर ली, जब मैं उसके साथ जयपुर आई तो वो कुछ भी नहीं है, एक छोटे से किराये के कमरे में रहता है और अभी पढाई कर रहा है, उसके माँ बाप भी इस शादी की खिलाफ होने की वजह से उसको वेदखल कर दिया है, अब वो मेरे साथ रोज मार पिटाई करता है, वो पूरा मर्द भी नहीं है, वो सेक्स सम्बन्ध भी सही तरीके से कायम नहीं कर पाता है, मैं क्या करूँ?मैंने पूछा तो बोलो मैं तुम्हारी क्या मदद कर सकता हु, तो कामिनी बोली की सर, आप मुझे अपना दोस्त बना लो, आप मुझे एक फ्लैट दे दो किराये का, मेरा इंतज़ाम कर दो, आप जो कहोगे वो मैं करुँगी, आप जब चाहे मुझे उस तरीके से उसे कर सकते हो, मैं आपके लिए ओपन हु, आप मुझे जहा ले जाओगे मैं जाउंगी, मैं आपके बेड पे सोउंगी, पर मुझे आप सहारा दे दो. मैं आपके लिए बहुत ही अच्छे तरीके से काम करुँगी और कभी भी शिकायत का मौक़ा नहीं दूंगी, मैं आपकी तरक्की में पूरा सहयोग करंगी.मैं उसकी बात में फिसल गया, एक तो उसकी भी मजबूरी थी, और मुझे भी एक अच्छे दोस्त की जरूरत थी क्यों की मेरी पत्नी से इधर सम्बन्ध अच्छे नहीं थे, तो मुझे भी एक कंधे का सहारा चाहिए था, मैंने कहा ठीक है, मैं तुम्हे जॉब पे रखता हु, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मैंने उसको जॉब पे रख लिया, ठीक उसी समय उसके पति का फ़ोन आया, वो मोबाइल निकली देखि की उसके पति का नंबर है,

उसने मोबाइल फ़ोन से सिम निकली और सिम को तोड़ दी, बोली की आज से ये चैप्टर मैं क्लोज करती हु सर, आज से आप मेरे सब कुछ हो,उसके बाद मैं एक फ्लैट किराये पर लिया एक अपार्टमेंट में, और उसके लिए जो भी जरूरत का सामान था वो भी अर्रनगे करवा दिया, दो से तीन दिन में, तब तक उसको मैं एक होटल में रूम दिलवा दिया था तीन दिन के लिए, फिर क्या था दोस्तों मेरी पहली रात मोहिनी के साथ, मैंने अपने पत्नी को बोल दिया की मैं मीटिंग में दो दिन बाहर जा रहा हु, और फिर मैं मोहिनी के फ्लैट पे चला गया, मोहिनी उस दिन पिंक कलर की नाईटी में थी, वो अंदर ब्रा भी नहीं पहनी थी, क्या बताऊँ यार वो एक दम पारी लग रही थी, मैं उसको देखते ही उसको अपने बाहों में भर लिया, वो खुद ही अपनी नाईटी उतार दी, मैं मोहिनी की चूचियों को दबाने लगा, पिने लगा फिर होठ को चूसने लगा, उसका पूरा गाल पिंक पिंक हो गया था, सच पूछो दोस्तों मैं जन्नत में था आज तक मैंने कई लड़कियों औरतो कॉल गर्ल से सेक्स किया पर मोहिनी जैसी आज तक नहीं मिली थी, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उसके चूत के तो क्या कहने मजा आ गया था उसमे लंड घुसाने में, खूब चोदा तीन दिन तक, वो भी मुझे इतना प्यार दी उन दिनों में आज तक मेरी पत्नी भी नहीं दी है, मैं उसको जॉब से परमोशन भी दे दिया है, मैं 8 महीने से उसको रखैल बना के चुदाई कर रहा हु, वो मेरे साथ बहुत खुश है और मैं उसके साथ बहुत खुश हु, कैसी नई नवेली दुल्हन की चुदाई स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मोहिनी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Mohini Kumari Sharama

जीजा जी का मोटा काला लंड से खूब चुदवाई

हेलो फ्रेंड्स, आज जो साली और जीजा की चुदाई कहानी बताने जा रही हु वो मेरी जीजा से चुदाई की कहानी हैं । आज मैं बताउंगी कैसे जीजा जी से चुदवाई,  कैसे जीजा जी से चूत चटवाई, कैसे जीजा जी से दूध पिलाई, कैसे जीजा जी से गांड मरवाई,  कैसे जीजा जी ने मुझे नंगा करके चोदा, कैसे जीजा जी ने मेरी चूत और गांड दोनों को मारा, कैसे जीजा जी ने मेरी चूत को चाटा, जीजा जी ने मेरी चूचियों को चूसा और कैसे जीजा जी ने मेरी चूत फाड़ दी । मैं करुणा द्विवेदी, २२ साल की हु, मैं गुडगाँव में रहती हु, मेरे घर में माँ पापा के अलावा मेरी एक बड़ी बहन है, जिसकी शादी पिछले साल ही हो गई है, जीजा जी बड़े ही हॉट किस्म के इंसान है,

जीजा जी से चुदवाई
जीजा जी का मोटा काला लंड से खूब चुदवाई 


शादी के मंडप में ही जीजा जी ने मेरी चूची कस के दबा दिए थे उसी समय समझ गए थे की दीदी के साथ मेरी चुदाई जरूर होगी.शादी के दूसरे दिन ही दीदी जब मंदिर गई थी माँ के साथ और जीजा जी यही थे, अकेले का फायदा उठा कर जीजा जी ने मुझे किचन में मेरे होठ चूस कर लाल कर दिए थे, और पीछे से मेरे चूतड़ पे लंड रगड़ रहे थे और दोनों हाथ आगे कर के मेरी दोनों बड़ी बड़ी चूचियों को मसल रहे थे, क्या बताऊ दोस्तों उस दिन ही मेरे चूत से पानी निकलने लगा था, मैं मोटे लंड के स्पर्श को भूल नहीं सकती, मैं भी जीजा जी से चुदने का टाइम देखती रहती थी, पर दीदी की निगाह होती थी की उसका हसबैंड मेरी बहन पे मुह ना मारे. पर तब भी मेरी चूचियाँ वो दबा ही देते और बाहों में जकड लेते.एक दिन की बात है दीदी को अपेंडिक्स का ऑपरेशन होना था, रात में हॉस्पिटल में एक ही अटेंडेंट को रहना था, तो मम्मी वह रूक गई, रात के करीब ११ बजे हमलोग वापस आ गए, पापा किसी काम से बंगलुरु गए थे, घर में मैं और मेरे जीजाजी थे, बस घर आते ही उन्होंने मेरे चूचियों को दबाना सुरु कर दिया, किश करने लगे होठ पे, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मुझे लगा की शायद ये मेरे लिए ठीक नहीं होगा पर मैं भी फिसल गई उनके प्यार में और गले लगा लिया अपने प्यारे जीजू को, फिर क्या था उन्होंने मुझे गोद में उठा के बेड पे ले गए, उन्होंने मेरे टी शर्ट को उतार दिया,

मेरा मस्त चूच अभी तक ब्रा के अंदर था पर ऊपर से देख कर उनके मुह से निकला वाओ फिर वो पीछे से मेरे ब्रा के हुक को खोल दिए.क्या बताऊ दोस्तों वो ऐसे मेरे बदन पे टूट पड़े जैसे की प्यासे को पानी मिल गया हो,मैं भी उतना ही प्यासी थी, मैं भी उनके होठो को चूसने लगी, उनके छाती के हलके हलके बालों को सहलाने लगी, उन्होंने मेरे दोनों हाथ ऊपर कर दिए और मेरे कांख के बाल को चाटने लगे, मुझे अजीब सी सिहरन और गुदगुदी होने लगी पर बहुत अच्छा लग रहा था वो फीलिंग जीजा ने मेरे चूच को दबाते हुए निचे आये और मेरे नैवेल में जीभ डाल कर गिला कर दिया, असल काम तो अब स्टार्ट हुआ था, उन्होंने मेरे चूत के बाल को बड़े हलके से सहलया और मुझे देख के मुस्कुराया, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और पूछा क्या ये अन टच है मैंने हां में जवाव दे दिया, क्यों की मैं आज तक किसी से नहीं चुदी थी.फिर क्या था पहले तो उन्होंने मेरे चूत को चिर कर देखा और बोले अंदर बिलकुल खरबूजे की तरह लाल है तुम्हारा चूत, आज मैं इस खरबूजे का जूस निकलूंगा मेरी प्यारी साली साहिबा, मैं बोली देखती है कैसे आप जूस निकलते है, पर मैं आपको बता देती हु, ऊँगली डाल कर तो देखो मैंने आपके लिए पहले से ही जूस निकाल दी हु, उन्होंने जब ऊँगली थोड़ा अंदर डाला मेरे चूत से गिला गिला सा तरल पदार्थ निकल रहा था, उन्होंने अपने जीभ से उसको चाटना सुरु किया और कहा गजब का स्वाद है,

तेरे चूत की तो बात ही कुछ और है मेरी जान, फिर जीजा ने मेरे चूत पे टूट पड़े, और चाटने लगे, काफी देर चाटने के बाद, मैंने कहा जीजा जी मेरे चूत में अब बहुत खुजली हो रही है प्लीज अब देर ना करते हुए शांत कर दो.उसको बाद तो उन्होंने हथोड़े की तरह अपना लंड निकाला, और मेरे चूत के छेड़ पर रखकर उन्होंने पेल दिया, अब क्या बताऊँ दोस्तों ये मेरी पहली चुदाई थी, मेरा बूर तो फट गया, खून निकलने लगा, पर मैं भी वो सब का परवाह ना करते हुए मैंने भी अपने चूतड़ को उठा उठा कर चुदवाना सुरु कर दिया, वो ऊपर से मैं निचे से धक्के लगा रही थी, और पूरा कमरा फच फच की आवाज से गूंज रहा था, मेरे मुह से सिर्फ आअह आआह आआह आआअह आआअह आआह की आवाज निकल रही थी और मेरे जीजा जी भी उफ़ उफ्फ्फ आअह आआह ले साली ले साली देख लंड का कमाल यही सब कह रहे थे, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मुझे चोदे जा रहे थे, करीब उस रात को ४ बार चोदा था उन्होंने, सुबह हुई फिर हम दोनों दीदी को लाने के लिए चले गए, शाम को दीदी भी आ गई.फिर तो कभी बाथरूम में कभी किचन में कभी छत के सीढ़ी पर जहा भी मौका मिलता था बस चुद जाती थी, वो दस दिन रहे और वो मुझे खूब चोदे. फिर मेरी शादी तय हो गई और शादी पंद्रह दिन के अंदर ही हो गया, मेरी विदाई दूसरे दिन होनी थी, क्यों की उस दिन दिन ठीक नहीं था इस वजह से सुहागरात का इंतज़ाम यही हो गया,

मेरे हसबैंड काफी लम्बे चौड़े बड़े ही सुन्दर खूब खुश थी की चलो अब तो लंड ही लंड मिलेगा, मैं दूध का गिलास लेके पहले से घूंघट में तैयार थी, मेरी तो चूत और चूचियाँ फड़क रही थी, मुझे लंड चाहिए था, वो आये फिर, थोड़े देर तक बात चित की और फिर मेरे होठ को चूसते हुए लिटा दिए.क्या बताऊँ दोस्तों उन्होंने मुझे इतना छेड़ा इतना छेड़ा, कभी चूत में कभी बूब पे कभी गांड में कभी नाभि पे, कभी होठ पे मैं पानी पानी हो गई मैं बहुत ही कामुक हो गई थी, मुझे उन्होंने अंग अंग हिला के रख दिया, आज तक मैंने वैसा कभी महसूस नहीं किया था, अब मैं बहुत ही गरम हो गई थी अब मुझे आदमी का क्या हाथी का भी लंड मिलता तो अंदर डलवा लेती, मैंने झकझोर के कहा देर मत करो, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं अब पागल हो जाउंगी, उन्होंने अपना लंड निकाला, मैं हैरान हो गई क्यों की जैसा शरीर था वैसा लंड नहीं था, खड़ा होने के बाद करीब ३ इंच का था, मैं मदमस्त जवानी से भरपूर लड़की और सत्तर साल के बूढ़े जैसा लंड, उन्होंने बड़े मुस्किल से मेरे चूत के अंदर डाला, मैं खीज गई, पर करती क्या,फिर मैंने होश से काम लिया और, उनको किश करने लगी, लगा की ये हम दोनों का पहला मिलान है इस वजह से ये सब हो रहा था, पर वो कुछ भी नहीं हुआ वो दो मिनट के अंदर झड़ गए, और निचे होक सो गए, मेरे रोम रोम चुदाई की डिमांड कर रहा था मैंने उठाने की कोशिश की पर वो नहीं उठे, मैं तड़प रही थी उनकी चुदाई के लिए,

फिर मैंने उठाया पर वो अब गहरी नींद में सो गए, मैं पांच मिनट तक सोचते रही फिर, मैंने अपने जीजा को व्हाट्सप्प की, तो वो बोले आपकी दीदी सो गई है और मैं अभी आपकी याद में जग रहा हु, मुझे तो लग रहा है की मेरी ज़िंदगी का एक टुकड़ा खो गया है, मैं आपको बहुत प्यार करता था पर अब आप किसी और की हो गई है, मैंने कहा आप छत पे आ जाओ.वो छत पे आ गए, और मेरी तड़पती जिस्म को मैंने उनके हवाले कर दिया, असल में सुहागरात उन्होंने ही मनाया, क्या रीडर मैं आज कल बहुत ही ज्यादा परेशान हु, मैं जीजा जी से ही चुदवाती थी, पर अब वो भी विदेश जा रहा है एक साल के लिए, मेरे पति किसी काम का ही नहीं है, अगर कोई दिल्ली से है और मुझे चोदना चाहता है, तो जोड़ना > Karuna Treevedi

मामा जी ने मेरी माँ को चोदा मेरे सामने

हेलो दोस्तों, आज जो भाई और बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी मामा जी के साथ माँ की सेक्स की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे मामा जी ने माँ को चोदा ट्रैन में, कैसे मामा ने माँ को नंगा करके चोदा,माँ की बूब्स चूसा,कैसे माँ की चूत चाटी, कैसे माँ को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से माँ की चूत मारी, माँ की गांड मारी , कैसे माँ की चूचियों को चूसा और खड़े खड़े माँ को चोदा । कैसे मेरी मामा जी ने माँ की चूत को ठोका, माँ ने मामा जी से चुदी । मैं अपने नानी के घर गई थी क्यों की नानी का तबियत खराब था, नानी का घर कोलकाता में है मैं मम्मी और पापा तीनो दिल्ली में रहते है,

मां की चुदाई
मामा जी ने मेरी माँ को चोदा मेरे सामने


मां जी मुझे और मम्मी को कोलकाता छोड़ आये और वापस दिल्ली आ गए हम दोनों वही रह गए और फिर पन्दरह दिन के बाद पापा का फ़ोन आने लगा, तब तक नानी जी भी अच्छी हो गई थी, फिर माँ ने सोचा की हम दोनों ही दिल्ली चल पड़ेंगे पर नानी जी ने मना कर दिया, की नहीं अकेले नहीं जाना है जवान बेटी साथ है आज कल जवना बहुत खराब है, नविन तुम दोनों को छोड़ आएगा, नविन मेरे मामा जी है जो की चौतीस साल के है नविन मामा जी से मेरी माँ करीब चार साल बड़ी है,दोनों बहुत ही अच्छे तरीके से रहते है मैंने देखा है की मेरी माँ नविन मामा से कुछ भी नहीं छुपाते है दोनों एक दूसरे से काफी शेयरिंग और केयरिंग करते है, मैं उन दोनों को जब इतने खुले विचार और रहन सहन देखती तो लगता था की बताओ दोनों भाई बहन में कितना प्यार है, काश ऐसा ही रिश्ता भाई बहन के साथ होना चाहिए, मुझे बहुत अच्छा लगता था जब दोनों आपस में दिल खोल कर हँसते थे,आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है।  मामा जी राजधानी एक्सप्रेस में सेकंड ए सी का टिकट ले आये थे, फिर हम दिनों दिल्ली जाने की तैयारी करने लगे, फिर फ्राइडे को डेल्ही के रवाना हो गए, हमारे रो में चार सीट था, जिसमे एक सीट खाली ही था, मामा जी और मम्मी दोनों बात चित कर रहे थे, मैंने एक चीज नोटिस किया की मामा जी की केहुनी मम्मी के चूच पे लग रहा था और मम्मी मामा जी को बड़ी ही कातिल निगाहों से देखती,

मुझे तो लग रहा था की ऐसा गलती से हो गया था पर ऐसा करीब पांच से छह बार हुआ तो मैं समझ गई की जाऊर दाल में कुछ काला है, ऐसा तो नहीं हो सकता और जब मामा जी मम्मी के चूचियों को अपने केहुनी से छूते तो मम्मी का एक्सप्रेशन बड़ा ही कातिल होता था, खाना खाके हम लोग सब अपने अपने बर्थ पे चले गए, मुझे नींद नहीं आ रही थी और ट्रैन सरपट दौड़ रही थी, पूरा बॉगी सो गया था तभी मैंने सूना मामा जी मम्मी को ऊपर से कह रहे थे, दीदी मैं निचे आ जाऊं, रोशन्नी सो गई क्या,तभी मम्मी बोली धीरे बोलो पता करती हु रौशनी सोई की नहीं, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी मम्मी बोली रौशनी रौशनी सो गई क्या तुमने मेरे पर्श देखा, मैं चुप रही, मैं समझ गई की मम्मी सिर्फ ये पता कर रही है की मैं सोई की नहीं, मैंने कुछ भी नहीं कहा, तो मम्मी निचे से बोली हां आ जाओ रौशनी सो गई है, तभी मामा जी निचे आ गए और मम्मी और मामा जी एक दूसरे के गले लग के चिपक गए, मामा जी मम्मी को किश कर रहे थे और ब्लाउज के ऊपर से ही मम्मी की चुचियो को मसल रहे थे, मम्मी बोल रही थी धीरे धीरे करो, पूरी रात है मजे करने को, ओह्ह्ह्ह्ह्ह इतना जोर से होठ को दांत से मत काटो, ध्यान रखना गाल पे दांत का निशान आ जायेगा, उफ्फ्फ्फ्फ़ धीरे धीरे पर मामा जी तो मम्मी पे टूट पड़े थे,फिर क्या था मैंने देखा मम्मी लेट गई और मामा जी मम्मी के ब्लाउज का हुक खोल दिए और फिर पीछे से ब्रा का भी हुक,

हलकी हल्की लाइट आती थी खिड़की के बाहर से जब कोई छोटा मोटा स्टेशन आता, मैंने देखा मामा जी मम्मी के दोनों चूची को पकड़ के पि रहे थे और दबाये जा रहे थे, मम्मी आअह आआह आआह आआअह आआह कर रही थी,उसके बाद मम्मी का पेटीकोट ऊपर कर दिए और मम्मी का जाँघिया खोल दिया और मामा जी माँ के बूर के पास जाके चाटने लगे, माँ सिर्फ उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ्फ़ उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़ आआअह कर रही थी, मेरी माँ मामा जी के बाल पकड़ कर अपने बूर में सटा रहे थे, माँ पागल सी करने लगी, कह रही थी जोर से चाटो खूब चाटो देखो तेरे लिए मैं अपने बूर से नमकीन पानी छोड़ी हु, चाट आज खूब चाट मेरे राजा ओह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह्ह जीभ घुसा में मेरे बूर में, फिर मामा जी ने मम्मी के दोनों पैर को अपने कंधे पर रखा और अपना लंड निकाल के माँ के बूर में डाल दिया मा आआअह आआअह करने लगी,फिर तो क्या बताऊँ दोस्तों मेरी चूत खुद ही गीली हो गई थी मैं तो अपने चूत में ऊँगली डालने लगी, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। माँ की वो अदाएं देख कर मैं हैरान हो गई थी, वो गांड उठा उठा के चुदवा रही थी और मामा जी जोर जोर धक्के पे धक्का दे रहे थे, खूब चोदा उन्होंने आखिरकार दोनों एक साथ झड़ गए, और शांत हो गए, तभी मामा जी बोले दीदी आज तुमने नहीं हराया आज मैंने तुम्हे हराया, कल तो तुम बड़े कह रही थी की तुम चोद नहीं पाते हो, तुम पहले ही झड़ जाते हो,

मुझे लगा की ये क्या ये दोनों तो बहुत पहले से चुदाई कर रहे है, मुझे तो ऐसा लगा था की पापा से ज्यादा इन्हे मामा जी ही चोदे है, फिर मुझे लगा की कही मैं मामा जी की ही बेटी तो नहीं फिर लगा नहीं नहीं मैं नहीं हो सकती इनकी बेटी, फिर मैं अपनी छोटी छोटी चूचियों को दबाने लगे क्यों की मैं एक घंटे से चुदाई देखकर मुझे भी चुदने का मन करने लगा था, पर मैंने सोचा की दिल्ली में मामा जी से जरूर चुदुंगी, रात में करीब ३ बार मामा जी ने मम्मी को चोदा था, कैसी लगी मामा और माँ की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी मां की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Kavita Mukharjee

दीदी की देवर से जी भर के चुदवाई

हेलो फ्रेंड्स, आज जो सेक्स की कहानियों बताने जा रही हु वो दीदी की देवर से चुदाई की कहानी हैं । आज मैं बताउंगी कैसे दीदी की देवर से चुदवाई,  कैसे दीदी की देवर से चूत चटवाई, कैसे दीदी की देवर से दूध पिलाई, कैसे दीदी की देवर से गांड मरवाई,  कैसे दीदी की देवर ने मुझे नंगा करके चोदा, कैसे दीदी की देवर ने मेरी चूत और गांड दोनों को मारा, कैसे दीदी की देवर ने मेरी चूत को चाटा, दीदी की देवर ने मेरी चूचियों को चूसा और दीदी की देवर ने मेरी चूत फाड़ दी ,मेरा नाम सीमा है, मैं अभी २२ साल की हु, मैं देखने में बहुत ही अच्छी हु, और सबसे खूबसूरत पार्ट जो मेरे शरीर में है वो है मेरी दोनों टाइट बड़ी बड़ी चूचियाँ और मेरे चूतड़ जो गोल गोल पीछे के तरफ निकला हुआ काफी सेक्सी है,

दीदी की देवर से चुदवाई
दीदी की देवर से जी भर के चुदवाई
मेरे होठ बहुत ही गुलाबी और रसदार है, मैं काफी मोर्डर्न तो नहीं हु, क्यों की मैं गाँव की रहने बाली हु, पर माल टंच हु, आपको ऐसी माल कही शहर में नहीं मिलेगा पुरे देसी हु, और एक नम्बर की चुदक्कड़.मेरे जब स्तन उगने सुरु हुए थे तब से ही मैं लड़को में मशहूर थी, सब मेरे ऊपर मरते थे, पर मैं किसी पे नहीं मरती थी क्यों की मेरे घरवाले बड़े ही स्ट्रिक्ट थे, मैं मन मसोस के रह जाती थी, ऐसे भी मैं गाँव में रहती थी तो वह के कायदे क़ानून होते है, पर जब से मेरे चूत में बाल और चूचियाँ बड़ी बड़ी होने लगी तब से मुझे लगा की ये चुदाई क्या बला है मैं चखना चाहती हु, मैंने एक पोर्न मूवी देखि अपने मोबाइल पे तब से तो और भी जख्मी शेरनी जैसी हो गई थी मुझे लगता था की कैसे मैं लंड को चखु, पर ये सब सम्भब नहीं था, मैंने कोई प्लान भी नहीं किया था की कब चुदुंगी मैं तो सोच रही थी की शादी के पहले तो कोई उपाय नहीं है चुदाई का, पर ये सब शादी के पहले ही सच हो गया है कैसे आगे बताती हु, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मेरे भैया बंगाल में रहते है, मैं उन्ही के पास गई थी, मेरी बहन लव मैरिज की है वो भी अपने पति के साथ मेरे भैया के कॉलोनी में ही रहती है, एक दिन मेरे दीदी के देवर आये, मैं पहली बार देखि थी क्यों की दीदी के शादी में कोई बारात या तो और ज्यादा ताम जहां नहीं हुआ था वो दोनों चुपके चुपके शादी की थी, मैं भैया के यहाँ थी, भैया भाभी और मैं, भैया ईस्टर्न कोल् फील्ड में काम करते थे,


वो ड्यूटी चले गए, गर्मी का दिन था, भाभी भी दूध लेने चली गई, मैं घर पे अकेली थी, दीदी का देवर मेरे यहाँ ही सोये हुए थे, वो दिन में बारह बजे आये, वो ऐसे लग रहते थे बड़े ही शर्मीले स्व्भाव के, वो बहुत ही काम बातचीत करते थे.घर में मैं अकेली थी और वो सोये थे, मुझे पता नहीं क्या हुआ लगा की आज मैं अपने वासना की आग को इनसे बुझा सकती हु, तो मैं झाड़ू लगाते लगाते उनके कमरे में गई जहा वो सोये थे, मेरी दिल की धड़कन तेज हो रही थी क्यों की मैं क्या करने जा रही थी मुझे ही पता था, मैंने गई और पलंग को एक टक्कर मारी वो उठ गए, वो बोले भाभी नहीं है घर पे तो मैंने कह दिया वो नहीं है वो दो घंटे बाद आएगी पहले दूध लेगी फिर वो कही और जाएगी, तो वो जाने लगे, मैंने उनके जुटे छुपा दिए, वो ढूढ़ने लगे, वो मुझसे पूछते की जूते आपने देखे है तो मैं सिर्फ हस रही थी तो उका शक मेरे ऊपर ही जा रहा था, फिर मैंने उनके चूतड़ में चुति काट ली, फिर दोनों में एक दूसरे को ऊँगली मारने की नौबत आ गई, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैंने उनके पेट में उनलगी करती वो मेरे पेट में ऊँगली करते. धीरे धीरे उनको सुरूर छा गया और वो मेरे चूच को ऊँगली मारने लगे, मैं भी उनके लंड को छूने लगी, वो मुझे पीछे से पकड़ के मेरे गांड में लंड रगड़ दिए, सच पूछिये तो पहली बार लंड रगड़ने का एहसास बड़ा ही मस्त था मैं और भी मस्ती में आ गई, और फिर से मैंने उनके लंड को छू दिए अब वो मेरे चूत को छूने लगे,

मैं नाईटी पहननी थी, वो निचे से हाथ डालने लगे, मैं सोची की कही भाभी ना आ जाये क्यों की मुझे पता था भैया तो रात को १० बजे आएंगे अभी तो चार ही बजे है, मैंने लैंडलाइन से भाभी को फ़ोन किया तो वो बोली की मैं सात बजे तक आउंगी, आज दूध मार्किट से ही ले लुंगी, जरुरी काम पड़ गया है मुझे मेरी दीदी के घर जाना है. मैं घडी देखि उसमे चार बज रहे थे मैंने समझ गई की अभी तीन घंटे तक कोई नहीं आने बाला.फिर क्या था मैंने बाहर जाकर देखा दरवाजा बंद था मैंने वापस जैसे ही आई तो मुझे फिर से दीदी की देवर ने पीछे से पकड़ लिए और मेरे चूचियों को मसलने लगे, मैंने भी मसलवा रही थी, बस सी सी सी की आवाज मुह से निकल रही थी, मैं कामुक होते जा रही थी, दर्द भी हो रहा था कोई पहली बार मेरी चूचियों को मसल रहा था, मैं अपना गांड उनके लंड पे रगड़ने लगी, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और फिर ऐसा लगा की मेरे पुरे शरीर में विजली दौड़ गई और मैं वापस मुड़ी और उनका सर पकड़ कर मैं उनके होठो को चूसने लगी, वो मेरी चूतड़ को पकड़ के मेरी चूत को अपने लंड से संताने लगे, दोनों की साँसे तेज हो गई थी और वो मुझे पलंग पे लिटा दिए और मेरी नाईटी ऊपर कर दी, फिर वो मेरी चूच को दबाने लगे, मैं ब्रा नहीं पहनी थी मैं टेप पहनी थी वो टेप को ऊपर कर दिए और मेरी चूच को मुह से पिने लगे और दाँतो से दबाने लगे, मेरे मुह से सिस्कारियां निकलने लगी.

मैं अपने पैर को उनके पैर से रगड़ने लगी फिर वो मेरी ब्लैक कलर की पेंटी के निचे हाथ डाले और बोली सीमा आपकी चूत तो बहुत गरम और गीली हो चुकी है तो मैंने कहा ये सब आपके वजह से हुआ है, वो फिर मेरी पेंटी को उतार दिए और फिर मेरे चूत को चिर कर देखने लगे मुझे शर्म आ गई, मैंने अपने चूत को अपने हाथो से ढक लिए, वो फिर मेरी हाथ को हटा के चूत को निहारते हुए अपना लंड निकाले और मेरे चूत के छेद पे रख के जोर से घुसाने लगे, मेरी चूत काफी टाइट थी इस वजह से जा नहीं रहा था, वो जोर लगा रहे थे पर जाने का नाम नहीं ले रहा था फिर से जोर लगाये और दीदी की देवर का लंड मेरे चूत में अंदर चला गया पर खून की कुछ बुँदे बेडशीट पे गिर गया, आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है.मेरी चूत फट चुकी थी अब हुआ असल खले वो जोर जोर से अपना लंड मेरे चूत में डालने लगे, मैं चिल्ला चिल्ला के चुदवाने लगी, उन्होंने मेरी चूत को फाड़ दिए, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मुझे दर्द भी बहुत हो रहा था और मजा भी आ रहा था, मैं खूब चुदी करीब दो घंटे तक, फिर दोनों खल्लाश हो गए. उसके बाद वो वह सात दिन तक रहे और मुझे सात दिन में करीब १७ बार चोदे, अगले महीने मेरी शादी है, अब मैं दूसरे लंड का इंतज़ार कर रही हु, कैसी लगी दीदी की देवर से सेक्स कहानी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो अब जोड़ना Facebook.com/Seema Sharma

Driver ke sath meri sex ki story

Hi .. friends.. ajj jo indian sex story batane jaa rahi hu wo meri driver se chudai ki kahani hai. Aaj main bataungi kaise driver ka mote lund se chudi, kaise driver ka bacche ki maa bani, kaise driver ka mote lambe lund se chudwayi,kaise me driver se chudwayi,kaise driver se chut chatwayi,driver se boobs chudwayi. kaise driver ne meri gand mara, kaise driver ne meri choot chata,kaise driver ne meri boobs chusa, kaise driver ne mujhe nanga karke choda, kaise driver ne mujhe jam kar choda, kaise driver ne meri gaand mar mar ke faad diya. Mera naam sunita hai aur me shadishuda 28 saal ki ek jawan sexy aurat hu.Mera akash ke sath bahut achi tarah se sex hota tha. Vo mughe humesah satisfy rakhta tha. Akash ka textiles ka bussiness hai abhi thore time pehle akah ne ek driver rakha tha naam uska farhan tha vo bahut handsoem or young tha mene kabhi use gandi nazatr se nahi dekha tha.

driver ke sath sex
Driver ke sath meri sex ki story


Vo larka halanki humare yahaa driver tha magar shakal surat se vo ek model lagta tha.jub humko early morning kahi jana hota tha us raat vo humare yahaa hi so jayaa karta tha. Ek din mughe meri susral indore suah me jana tha akash kuch kaam se pune gayee hue themene use agle din subah jaldi chalne ka kaha to humesa ki tarah vo humare yahaa so gaya me subah char baje jub uthi to mene socha use uske room me jaker jaga du jese hi mene room ka darwaza khola vo sirf undies me soya hua tha uska badan bahut hi handsome or strong tha uski undies bhi kuch uthi hui thi pehle to me vapas aa gayee magar thori der ke baad me jub phir gayee tto vo abhi tak so raha tha or uski undies me se uska lund saaf utha hua dikhai de raha tha.
Mme use dekh ker ye bhul gayee ke me shadi shuda hu mughe to ek jawan strong or haseen larka vo bhi nanage badan dikhai de raha tha. Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. Me uske pass gayee or uski body ko gor se dekhne lagi. Uski body akash ki body se bahut develop thi muscles or chest ekdum strong or chikne the uske pink hoth uska sexy cehra meri nazaro ke samne tha. Uski masal jhange mughe inite ker rahi thi. Mene dhiore se uski jahng per hath rakah or use sehlane lagi.mene upni gown unchi ker li thi jise meri chutr saff nazar aa trahi thi. Mere hath uske jhango per se hote hue uske ubhar tak jaa pahunce tabhi vo cholk ker uth gayaa.or bola ki madam aap kya ker rahi hai yahaa tabhi mene uska lund unides per se pakar liya or uske hoth per mere hoth rakh dioye or use chusne lagi tab me bhul chuki thi ki me ek shadi shuda aurat hu usne mere boobs ko masalna shuru ker diya or merri body ko chatne laga mughe usme bara mazaa aar aha tha.jub driver ka jibh meri chut tak pahunchi to me pagal ho gyaee

akahsh ne kabhi meri chut ko apne hotho se nahi chua tha mene apni tange chori ker di to driver ne apni jibh meri chut me dal ker chata .me to pagal ho gayee thi. Or chila rahi thi. Ah farhan ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh mughe mar daloge tum ahhhhhhhhhhh plzzzzzzzzz chato or zor se ahhhhhhhhhhhh aakahs ne kabhi mbhi mughe nahi chata.Vo bola madam akash ko to mera chusne ki adat hai tab to me kuch nahi boli or vo chatta raha tabhi us ne position badli or bed per let gaya uski undies mene utar di wooooooooo kya size tha akahas ka lund hi itna bara tha ke mughe use lene me taklif hoti thi iska to akasha se bhi bara tha.mene use jhut munh me le liya or pagalo ki tarah chatne lagi. Chusne lagi. Driver ka lund ek rod tha garam rod jo ki mere munh e bari mushkil se aa ja raha tha. Usne mughe bed per lita diya or apna supara meri chut per rakha tab me ek ah bahtri ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh farhan jaldi dalo naa to usne ek zor ka dhakka lagaya to Driver ka lund meri chut koi pharte hue ander chala gaya. Me boli ah farhan abus aaaaaaah plz bahut dard ho raha hai to vo bola jaaaaaaaaaaaaan bahi to adha hi gayaa hai or usne zor ka ek or jhutka mara to pura lund under chala gayaa mughe laga ki meri bachedani tak uska lund pahunc chuka tha magar mughe bahut mazaa raa tha m e chilla rahi thi ahh farhan aaaaaaaaaaaaaaaaaa or ozr se ah kya khaya hai tumne admi ho ki loha ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh jaaaaaaaaaaan mughe pata nahi tha tum itne fuladi hoge ahhhhhhhhhhhhh, daloooooooo or zor se farhannnnnnnn ahhhor me uchalne lagi kareeb 15 min tak vo non stop dhkaee lagat a raha Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. akhir vo mugh me jhur gayaa me itni der me teen baar jhur chuki thi jo ki mera pehla expereince tha.hum dono kafi der tak ek dusre se nange lipte rahe.

Kapre vagera pehnne ke baad mene farhan se pucha kya tum us time kya keh rahe the kya akash tumhra chuste hai to vo pehle to kuch nahi bola magar baad me usne batyaa ha madam sir ne mera lund kayee bar chusa hai aapke husband bisexual hai to mughe bara ascharaya hua. Ke akahs bhi esa ker sakte hai. Kher do din baad jub me susral se vapis aa ye to akash or hum dno sex ker rahe the or akash mughe me usnka lund dal ker chod rahe to me karah rahi thia ah akshaaaaaaaa ahhhhhhhh kya lund hai aaaaaaaaaahhhhh or tabhi mere munh se nikal gyaa ah farhaaaaaaaaaaaaaaa n tumhara bahut mota hai to akash chok gaye jese tese unhone sex kahtam kiya or ek karwat badal ker so gayee subah mughe usne pucha tum raat me farhan ko kyu yad ker rahi thi to mene kaha nahi aapko galtfahmi hui hai to bole tum raat ko farhan ke bare me kuch barbara trhai thi mene uneh samghane ki bahut koshish ki magar vo nahi mane har ker mene unse kaha jis tarah farhan ke sath tumhre relation hai mere bhi hai to vo choq gayee bole tumhe kisne bataya to mne ekah mughe malum hai ki tum larko ke lund chuste ho. To vo sharma gayee or bole ok me tumhe satisfy kerta hu ki nahi to mene kaha haa kerte ho magar jo bhi hua vo unjane me hua. To bole ok koi bat nahi age se dhyaan rakhna.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. Us din ke baad mene farhan ko bahut bhulne ki koshish ki magar me 2 din bhi na reh saki mughe uska chodne ka style uski stroing body uska lund bhulaye se na bhulte the.

Ten char din baad mughe or akash ko subah bahar jana tha hamesha ke mutabiq farhan us din mere yahaa soya tha. Raat ko akash ne mere sath sex kiya or hum dono so gayee. Raaat ko kareeb teen baje merio nend khuli to mene dekha ki akash bioster pper nahi the thoiri der tak to me intezart karti rahi magar phir mughe dhyan aaya ki aaj farhan yahee soya hai ho sakta hai akash uske passs gayee ho to me jald se us kamre ki taraf chal di jahan farhan soya hua tha me jub vahaa pahunchi to light jal rahi thi or darwaza band tha. Mene bahut kosish ki ki under kya ho raha hai me dekh lu magar naa dekh saki.tabhi meri nazar ek hole per gayee me nne koshish ki to under ka saff dikh raha tha. Farhan bisterper leta hua tha or akash uska lund chus rahe the beech bech me farhan bhi akash ke lund ko hila deta tha.dono siskari bhar rahe the akash farhan se keh rahe thje yaar tuhara lund hai ki kya sunita ko mazaa agayaa us din to farhan ne kaha akash me khud nahi gaya tha vohi aayi thi.top akash bole.Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. Dear tum ho hio ese ki jub me larka ho ker tumhara aashique hu to vo to larki hai kher ye batao ki tum sunita ko or chodna cahte ho to farhan akah ka lund hath me leker bola haaaaaaaaaaaaaaaaaaaa akashj mughe uski chut ko or chodna hai.akash bole yaar mene tumhe permissionn de di hai to phir kyu puchte ho jitna ji cahe chodna. Tabhi mene achanak darwaza khatkhatayato akahs or farhan dono ghabra gayee. Akash ne jaldi se kapre pehne por darwaza khola to mughe dekh ker muskurane lage or mera hath pakaraker under le gayee.farhan bhi underwear pehan chuka tha.uska lund abhi bhi undies me khara tha.tabhi akash ne farhan ke pass jaker mere samne uske lund per hath pherna chalu ker diya or bole sunita lo aao. Tub me uske pass gayee to akash ne khud mera hath utha ker uske lund per rakh diya.

Me use sehlane lagi itni der me aksh ne mera gown utar diya ub me bilkul nangi thi farhan ne meri chut per hath pherna shuru ker diya or akash ne mer dusre hath me unka lund thama diya me dono lund ko sehlane lagi farhan ki ungli meri chut me under bahar ho rahi thi. Tabhi farhan ne meri chut per munh rakh ditya or apni jaban under bahar kerne laga is beeech akash farhan ke lund ko chus rahe the or me akash lkle lund ko chus rahi thi.Ub dono khare ho gayee or farhan or akash ke lund ko bari bari se chusne lagi.ub mughse intezar nahi hor aha tha. Mughe farhan ne bed per litaya or driver ka 8" ka lund meri chut me dal ker mere husband ke samne mughe zorzor se chodne laga. Akash khare khare hatho se lund ko hila rahe the. Farhan bhi sisdkariya bahr raha tha ahhhhhhhhh akashhhhhhhh kya chut hai.me bhi chilla rahi thi farhaaaaaaan or zor zor se karo ahhhhhhhhhhhhhh akash dekho kya sex karta hai. Aap ye kahani new hindi sex stories .com paar paad rahe hai. Thori der baad mughe ghori nbbanaya or meri chut me piche se lund dala ye mere liye bilkul naya tha uska lund meri chut me satasat aaa raha tha. Me chilaa rahi thi ahhhhh farahhhhhan tum asal mard ho dekho ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh kya chodte hoa haaaaa kya lund hai ah rod hai rooooooood ahhhhhhhmaraa gayeeeeee or thoiri der baad farhan ki chut meri chut me ho gayee or akash ka lund farhan ne hila hila ker chut karwa di us raat ko hum teeno bilkul naked soye the. friends.. kaisi lagi driver se meri sex ki kahani .. ascha lage to share karo .. agar kisine meri chudasi chut ki chudai karna chahte ho to add karo Facebook.com/SunitaRaniDas

कुंवारी छोटी बहन की जी भर के चुदाई होटल में

हेलो दोस्तों, आज जो भाई और बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हू वो मेरी कुंवारी बहन की चुदाई की हैं । आज मैं बाटूंगा कैसे छोटी बहन को चोदा होटल में, कैसे छोटी बहन को नंगा करके चोदा,बहन की बूब्स चूसा,कैसे बहन की चूत चाटी, कैसे बहन को घोड़ी बना के चोदा, कैसे 8 इंच का लण्ड से बहन की चूत मारी,  बहन की गांड मारी , कैसे बहन की चूचियों को चूसा और खड़े खड़े बहन को चोदा । कैसे मेरी बहन की कुंवारी चूत को ठोका ।आज मैं आपके सामने एक अपनी सच्ची चुदाई की कहानी जो की मेरे और मेरी प्यारी बहन निहारिका के बारे में है, पहले तो मुझे लगता कोई भाई अपने बहन के साथ सेक्स सम्बन्ध बना सकता है पर जब मेरे साथ ये हुआ और मैंने अपने बहन के साथ सेक्स किया तो लगा की ज़िंदगी में कई बार ऐसे मौके आ जाते है जिसमे रिश्ते तार तार हो जाते है और कुछ और ही हो जाता है जिसकी हमलोग कल्पना भी नहीं करते है,


मेरी बहन बहक निहारिका की उम्र इक्कीस साल है, हमलोग मध्यप्रदेश के रहने बाले है, ये कहानी आज ऎसे दस दिन पहले की है जब हम दोनों को दिल्ली आना पड़ा, निहारिका का जॉब इंटरव्यू दिल्ली में था, शनिवार को, तो हमलोग दिल्ली शनिवार को ही पहुंच गए थे करीब ७ बज रहे थे सुबह के, हम दोनों ने एक होटल का कमरा लिया, रिसेप्शन पर एक सुन्दर सा लड़का जो ब्लैक सूट में था, गुड मॉर्निंग कहा और रजिस्टर में नाम लिखने लगा, हमने आई डी प्रूफ दिया, जब सरे फोर्मलिटी हो गया था वो लड़का मुस्कुराया और कहा, सर आपकी वाइफ बहुत सुन्दर है, एन्जॉय कीजिये, आपको किसी चीज की जरूरत होगी तो प्लीज आप हमें फोन कर दीजिये, आपका वीकेंड हैप्पी हो. हमने थैंक्स कहा, और जैसे वह से घूमे अपने कमरे जाने के लिए हम दोनों को हसी आ गई, हस्ते हस्ते अपने कमरे तक पहुंचे और निहारिका तो और जोर जोर से हसने लगी, कहने लगी वाइफ बोला मुझे मुझे बहुत हसी आ रही है इस तरह से हम दोनों एक दूसरे को देखकर हसने लगे, फिर हम दोनों फ्रेश हुए, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। ब्रेकफास्ट किया और वह से वसंत कुञ्ज के लिए निकल पड़े वही निहारिका का इंटरव्यू था, सब कुछ अच्छा हुआ, निहारिका सेलेक्ट हो गई, हम दोनों काफी खुश थे, वह से करीब तीन बजे निकले और फिर दिल्ली घूमने लगे, इंडिया गेट गए, फिर हमलोगो कई सारे मॉल गए,

शाम को कनॉट प्लेस गए, खूब मजे किये, मैंने वह पे एक कपल को देखा जो पार्क में बेंच पर ही गोद में बैठाकर चुदाई कर रहे थे, वो भी तब देखा हमदोनो ने जब आअह आआह आआअह की आवाज आ रही थी, और वो लड़की कह रही थी, भैया धीरे धीरे चोदो दर्द हो रही है, और जल्दी चलो घर मम्मी पापा इंतज़ार कर रहे होंगे, हम दोनों एक दूसरे का मुह देखने लगे और बोले दोनों भाई बहन है, बताओ दिल्ली जगह ही ऐसी है, चलो सब का अपना अपना ज़िंदगी जीने का तरीका है,सच बताऊँ दोस्तों उसके बाद निहारिका को मेरे देखने का तरीका ही चेंज हो गया, मैं अब उसके बूब को निहार रहा था, जब वो चल रही थी तो उसके मटकते कमर को देख रहा था, वो तब से और भी ज्यादा हॉट लगने लगी थी, पर मैं ये भी ध्यान रख रहा था की कही उसको मेरी ये नजर पता ना चल जाये, है तो मेरी बहन ही, फिर धीरे धीरे नार्मल होते गए, एक बार तो उसका बूब मेरे केहुनी से लग गया, उसने कुछ भी नहीं कहा और वो मुस्कुरा दी, मुझे बहुत ही अच्छा लगा, क्या रुई के तरह बहन का गोल गोल चूच लग रहा था यार.,आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। शाम को खाना कहते हुए करीब हमलोग आठ बजे होटल पहुंचे, कमरे में गए और फ्रेश होके टी वी देखने लगे, तभी निहारिका बाथरूम से निकली, मैं उसको देखकर हैरान हो गया, वो पिंक कलर की नाईटी में थी, बाल खुले थे बड़ी ही हॉट लग रही थी,

वो अंदर ब्रा नहीं पहनी थी और उसकी नीति सिल्की सिल्की थी तो उसका बूब का साइज निप्पल समेत दिख रहा था वो जब चल रही थी और कंघी कर रही थी तो उसका बूब हिल रहा था, यहाँ तक की जब वो चलती थी बहन की चूतड़ गजब की दिख रही थी, सच पूछो दोस्तों मेरा लंड तो खड़ा होने लगा था मैंने फटा फट कम्बल रख लिया ताकि उसको पता ना चले की मेरे हीरो सलामी ठोंक रहा है.तभी बेल्ल बजा दरवाजा सिर्फ सटाया हुआ था, मैंने कहा कमीन वो होटल का बेटर था, वो एक बोतल व्हिस्की दो गुलाब का फूल, दो कैंडल देते हुए कहा, सर ये सारे चीज मैनेजर ने भेजा है, और कहा है, सर के लिए गिफ्ट है उनके हनीमून पे, निहारिका फिर जोर जोर से हसने लगी और मैं भी वैसे ही खुल के हसने लगा, निहारिका कह रही थी क्या बेवकूफ मैनेजर है उसको लग रहा है की हम लोगो हनीमून मनाने आये है, पागल कहिका और खूब हसने लगे दोनों मिलकर. उसके बाद व्हिस्की देखा वो काफी अच्छे ब्रांड का था, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। पहले भी कई मौके पर हम दोनों ने पि है, तो निहारिका बोली अच्छा है, चल निकाल आज पि ही लेते है, और फिर वो पेग बनाने लगी और हम दोनों पिने लगे, अब मुझे काफी नशा आ गया था और निहारिका को भी चढ़ गया था, अब वो और भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी, बार बार वो अंगड़ाई ले रही थी, मैं भी बहन की चूचियों को बार बार देख रहा था,

जब वो अंगड़ाई लेती थी उसकी दोनों चूचियाँ और भी बाहर के तरफ हो जा रही थी, बड़ा ही हॉट नजारा था उस समय का, उसकी आँखे और भी सेक्सी हो गई थी और वो बहकी बहकी बात कर रही थी, वो कह रही थी भाई याद आया वो लड़की वो कह रही थी धीरे धीरे डालो भैया, उफ्फ्फ्फ्फ़ क्या नजारा था यारा, क्या मस्त लग रही थी वो सेक्स करते हुए,निहारिका कह रही थी साले मैनेजर क्या सुझा इसे हमलोग पति पत्नी है, ओह्ह्ह भैया तुम्हे तो मेरा सैया बना दिया है इस होटल बाले ने, और वो बार बार अंगड़ाई ले रही थी, फिर निहारिका बोली भैया आज मैं बहुत खुश हु आज मेरी जॉब लग गई है, आज तो पार्टी बनती है, मांग तू आज जो भी मांगेगा आज मैं मना नहीं करूंगी, मैंने कहा सच दोगी वो, बोली मांग के तो देख, आज मैं किसी भी चीज के लिए मना नहीं करुँगी, बोली चल मांग जो मांगना है, मैंने कहा आज मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हु, तो निहारिका बोली मैं तो कब से चाह रही थी आज जो मैनेजर बोला वो कर लेते है, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और वो मेरे गले से लग गई उसकी दोनों चुचियन मेरे छाती से चिपक रही थी, और फिर मुझे किश करने लगी, फिर वो सारे लाइट बंद कर दी और दोनों मोमबती को जला दी और नाईटी को उतार दी, हलके हलके रौशनी में काफी सेक्सी लग रही थी मेरी बहन, क्या शरीर था यार, बहुत हॉट लग रही थी बड़ी बड़ी चुचिया, कमरे पतली, बहन की गोल गोल चूतड़, खुले बिखरे बाल, वो मटकती हुई आई,

और मेरे होठ को चूसने लगी मैं हौले हौले से बहन की चूचियाँ दबाने लगा, नशे में मेरी बहन बहुत ही कामुक हो गई थी, फिर मेरी बहन मेरे लंड को हाथ में ले ली और कहने लगी क्या लंड है भैया जैसा की ब्लू फिल्म में होता है वैसा ही लंड है आपका.और वो मेरे लंड को पकड़ कर पाने चूत के ऊपर लगा ली, और हलके हलके से बैठ गई पूरा 8 इंच का लण्ड मेरी बहन के चूत में समा गया, ओह्ह्ह फिर क्या बताऊँ दोस्तों मेरी बहन उछाल उछाल कर चुदवाने लगी, उसके मुह से आअह आआह आआअह आआअह उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ की आवाज निकल रही थी जब वो मेरे लंड पे झटके देती तो फच फच की आवाज आती, पूरा कमरा महक रहा था हलकी हलकी मोमबती जब रही थी और मेरी बहन की सेक्सी आवाज पुरे कमरे में गूंज रही थी, मैं भी हाय हाय हाय कर के लंड को पेले जा रहा था. उसके बाद निहारिका निचे लेट गई और मैं ऊपर चला गया, फिर मैंने उसका पैर को अपने कंधे पर रख लिया और अपना लंड को जोर जोर से उसके चूत में डालने लगा.वो चिलाने लगी फ़क में फ़क में हार्ड, चोदो खूब चोदो मुझे, फाड़ दो मेरी चूत को, ले लो अपनी आगोश में, बना दो मुझे रंडी, चोद जो मेरी जिस्म को शांत कर दो, फिर मैंने उसको घोड़ी बनाया और पीछे से बड़े चौड़े गांड को पकड़ के फिर बहन की चूत में लंड पेलने लगा, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। वो काफी हॉट और वाइल्ड हो गई और जोर जोर से गांड को धक्के लगा रही थी,

फिर हम दोनों एक लम्बी आआह भरे आआह्ह्ह्ह्ह्ह् आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह और मैंने पूरा वीर्य बहन की चूत में डाल दिया और हम दोनों एक दूसरे को चूमते हुए लेट गए, फिर आधे घंटे बाद एक एक पेग व्हिस्की फिर ली उसके बाद फिर चुदाई की, रात भर करीब ४ बार मैंने अपनी प्यारी बहन को रंडी बना कर चोदा. कैसी लगी हम डॉनो भाई और बहन की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी बहन की रस भरी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/NiharikaSharma

Chudai,chudai kahani,sex kahani,sex story,xxx story,hindi animal sex story,

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter