Hindi urdu sex story & चुदाई की कहानी

New hindi sex stories, pakistani hot urdu sex stories, chudai kahani, chudai ki xxx story, desi xxx animal sex stories, चुदाई की कहानियाँ, hindi sex kahani, सेक्स कहानियाँ, xxx kahani, चुदाई कहानी, desi xxx chudai, xxx stories sister brother sex in hindi, mom & son sex story in hindi, kamuk kahani, kamasutra kahani, hindi adult story with desi xxx hot pics

दामाद का मोटा काला लंड से मेरी चुदाई की कहानी

दामाद और सास की सेक्स कहानियाँ, Hindi sex stories, दामाद ने सास को चोदा Hindi story, दामाद ने मेरे चूत में लंड डाल दिया, Damad ne mujhe choda xxx hindi sex story, दामाद ने मुझे चोदा Xxx Kahani, दामाद ने मेरी चूत में लंड पेल दिया Real Kahani, अपने दामाद के लंड से चूत की प्यास बुझाई Chudai Kahani, अपने दामाद से चूत चटवाई, अपने दामाद को दूध पिलाई, अपने दामाद से गांड मरवाई, अपने दामाद ने मुझे नंगा करके चोदा, अपने दामाद ने मेरी चूत और गांड दोनों को मारा, अपने दामाद ने मेरी चूत को चाटा, अपने दामाद ने मेरी चूचियों को चूसा और अपने दामाद ने मेरी चूत फाड़ दी,

मैं नीतू डोगरा, मैं चालीस साल की हु, मेरी एक बेटी है संध्या डोगरा, वो बीस साल की है, उसकी शादी को अभी ६ मैंने ही हुए है, मैं पहले आपको अपने बारे में बताती हु, मैंने अपने पति से तलाक ले लिया है, क्यों की वो किसी और औरत के साथ सेक्स सम्बन्ध थे, मेरा अपना फ्लैट है दिल्ली में, मैं एक मीडिया हाउस में जॉब भी करती हु, और मेरी बेटी मॉडलिंग करती है, शादी भी उसने अपने ही बॉस से की है, एकलौता बेटा है, उसके माँ और पापा दोनों बंगलुरु में रहते है.
आपको पता है की मेरी बेटी मॉडलिंग करती है, मॉडल तो वही होता है वो देखने में काफी सुन्दर हो, शरीर अच्छा हो, फिगर मेंटेन हो, जब किसी लड़की को ऐसा होगा तो आपको पता ही है लड़के मरते है, आज कल तो लड़के तो सुन्दर लड़कियां चाहिए, और प्यार व्यार तो कइयों से होता है, ये नया ज़माना है, हाथ पकडे नहीं की हाथ तुरंत ही ब्रा या पेंटी के अंदर चला जाता है, क्यों? सही कह रही हु ना? आपने भी कइयों से यही किया होगा, ज़रा सा बात हुई की होठ पे किश कर लिया या तो चूच दबा दी, और थोड़ा मौक़ा मिला तो पेंटी में हाथ डाल के चूत का माप ले लिया, की झांट है की नहीं, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। गीली हुई की नहीं है ना सही बात.तो ऐसा ही हुआ जब संध्या का बर्थडे था, पहले तो वो लोग बाहर ही बर्थडे मना के आये, मुझे ले नहीं गए, मुझे भी लगा की चलो दोस्तों के साथ ही मनाने देते है, फिर जब वापस रात को करीब १० बजे आई तो उसका बॉयफ्रेंड भी उसके साथ था, फिर रात काफी हो गई थी, तो मैंने अपने बेटी के बॉयफ्रेंड को कह दी बेटा कल तो संडे है, आज रात यही रूक जाओ, और ना ना करते करते और मेरी बेटी की जिद के चलते वो रूक गया, मेरा कमरा अलग है बेटी का कमरा अलग है उसके बाद, एक गेस्ट रूम है वही पे उसको कह दिया गया रहने के लिए, पर वो वह कहा रहेगा, देर रात तक खुसुर फुसुर करता रहा, मेरी नींद लग गई, जब उठी वो भी एक चीख पे वो चीख संध्या की थी,

आआअह आआआह आआआह खून निकल रहा है, आआआह आआआअह आआआअह मर गई, मैंने दौड़कर झांककर देखि तो संध्या के कमरे में रोहित था, संध्या निचे थी और रोहित अपना मोटा लंड बेटी के चूत में डाल रखा और और चूचियों को सहला रहा था, अब मैं क्या करती, चुपचाप रही, संध्या बोल रही थी, तुमने जोर से धक्का दे दिया मेरी चूत फट गई, फिर वो धीरे धीरे से चोदने और चुदवाने लगे, मैं काफी देर तर देखि, और मैं वापस अपने बेड पे आ गई, गीली चूत लेकर, करीब पूरी रात मेरी कानो में, चुदाई की बात गूँज रही थी, मैं काफी परेशान थी, की संध्या ने शादी के पहले सेक्स क्यों किया, सुबह हुई मैंने दोनों के लिए नाश्ता बनाई, और फिर मैंने दोनों को ड्राइंग रूम में बुलाकर बोली, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। की तुमलोग रात को हद से ज्यादा बढ़ गए हो, अब क्या होगा, रोहित तुम्हे पता है, मैं अकेली औरत हु, अगर एक बार बदनामी हो गई तो मैं कही की नहीं रहूंगी, और रोने लगी, तो रोहित आया और मुझे गले से लगा लिया, और बोला माँ जी आप चिंता क्यों करती हो, मैं संध्या से शादी के लिए तैयार हु,सच पूछिये तो मेरे ख़ुशी का ठिकाना ना रहा, मैंने रोहित को धन्यवाद बोली माथे पे चुमी, और मैंने कहा बेटा तू मेरी इज्जत रख ले, और लड़का अच्छा निकला, पंद्रह दिन के अंदर ही कोट मैरिज हो गया, रोहित मेरे घर पे रहने लगा, मेरा अपना मकान है, और रहने बाले कोई नहीं, रोहित और संध्या दोनों हनीमून के लिए गोवा गए,

चार दिन के लिए, मैं इन चार दिन में उस रात की सारी बातों को दुहराते रही, क्यों की रोहित का गठीला बदन और मोटा लंड मुझे काफी आकर्षित कर दिया था, मैं अब बार बार उसकी के बारे में सोचने लगी, फिर क्या बताऊँ दोस्तों, एक बार एक फैशन शो में संध्या को शहर से बाहर जाना पड़ा, और रोहित को बुखार लगा था, संध्या सुबह से चली गई, दोपहर को डॉक्टर को दिखवाकर लाइ, शाम होते होते रोहित का बुखार उत्तर गया, मैं शाम को अपने बैडरूम में कपडे चेंज कर रही थी, और दरवाजा खुला था, रोहित कब आ गया पता ही नहीं चला, उस समय मैं नंगी थी, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। बाल में मेरे ब्रा का हुक उलझ जाने की वजह से मैं निकाल रही थी, रोहित जैसे ही मुझे देखा वो खड़ा का खड़ा ही रह गया, पर मैंने जल्दी जल्दी करने लगी और भी ज्यादा मेरा बाल उलझ गया, मैं आउच की तो रोहित तुरंत मेरे पास आकर, मेरा ब्रा मेरे बाल से निकाल दिया, पर वो मेरे सामने ही खड़ा मेरे बदन को निहार रहा था, मैं जैसे ही उससे नजर मिलाई, आँख निचे हुई ही नहीं, क्यों की वो खुद ही तौलिया पहन कर था, और हम दोनों एक दूसरे को कब गले लगा लिए पता ही नहीं चला, मेरे होठ रोहित के होठ को छूने लगे, और दामाद का हाथ मेरी चूचियों को मसलने लगा,फिर क्या था बेड पे हम दोनों कभी इसके ऊपर कभी वो मेरे ऊपर, फिर मैं अपनी पैर फैला दी और दामाद ने मेरे चूत में लंड डाल दिया,मैं बहुत दिनों से लंड की प्यासी थी, मैंने दामाद से खूब चुदवाई, और वो भी कामसूत्र के सारे पोज़ का इस्तेमाल कर दिया, उसके बाद तो दोस्तों आज ४ महीने हो गया है, संध्या तो मॉडलिंग कर रही है, पर मैं रोहित के बच्चे की माँ बनने बाली हु, वो भी साढ़े तीन महीना का, अब मैं इसका सलूशन धुंध रही हु, की क्या करूँ, अगर ये बात मेरी बेटी को पता चलेगा तो क्या होगा, अब रोहित संध्या से ज्यादा मुझमे ही इंटरेस्ट ले रहा है, वो कहता है की आप मेरे बच्चे को जन्म दो, मैं संध्या को मना लूंगा, पर मैं सोचती हु की कही मैं संध्या की ज़िंदगी बर्वाद तो नहीं कर रही हु, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। प्लीज मुझे बताये,कैसी लगी हम डॉनो दामाद और सास की सेक्स स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी लंड की प्यासी चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो अब जोड़ना Facebook.com/NeetuDogra

The Author

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स कहानियाँ

Hindi urdu sex story & चुदाई की कहानी © 2018 चुदाई की कहानियाँ