Hindi urdu sex story & चुदाई की कहानी

New hindi sex stories, pakistani hot urdu sex stories, chudai kahani, chudai ki xxx story, desi xxx animal sex stories, चुदाई की कहानियाँ, hindi sex kahani, सेक्स कहानियाँ, xxx kahani, चुदाई कहानी, desi xxx chudai, xxx stories sister brother sex in hindi, mom & son sex story in hindi, kamuk kahani, kamasutra kahani, hindi adult story with desi xxx hot pics

माँ और बेटी को कुल मिलाकर चोदा

Maa beti ko ek sath choda ग्रुप सेक्स कहानी, Chudai Kahani, माँ बेटी को एक साथ चोदा desi xxx group sex hindi story, पारिवारिक ग्रुप सेक्स की कहानियाँ, Parivarik sex kahani, बाप ने बेटी को चोदा Hindi story, भाई ने बहन को चोदा xxx story, बेटे ने अपनी माँ को चोदा, Maa behan ki chudai xxx hindi sex stories, ग्रुप सेक्स कहानी, sex kahani, बहन भाई की सेक्स स्टोरी, hindi xxx story, माँ बेटे की सेक्स स्टोरी, बाप बेटी की सेक्स स्टोरी, antarvasna ki hindi sex stories, छात्र शिक्षक की सेक्स स्टोरी, माँ की चुदाई, बहन की चुदाई, दीदी की चुदाई, भाभी की चुदाई, चाची की चुदाई, शिक्षक की चुदाई, देवर भाभी की चुदाई, माँ बेटे की चुदाई, भाई बहन की चुदाई, बाप बेटी की चुदाई, बेटी की चुदाई, हिंदी XXX सेक्स कहानी, अचल हिंदी सेक्स कहानियाँ, सच हिन्दी सेक्स कहानी, गर्म सेक्स कहानी हिन्दी, हिंदी सेक्स स्टोरी

दोस्तों अगर आपको माँ और बेटी दोनों को एक ही रात में चोदने का मौका मिले तो कैसा लगेगा,  मेरी वाइफ मायके गई थी तब की ये घटना है, मेरे पड़ोस में एक फैमिली रहती है, पति का टूरिंग का जॉब है इसलिए वो दिल्ली से बाहर ही ज्यादा रहता है, उनके घर पे पति पत्नी और उनकी एक बेटी नैना है नैना अभी 12वी में पढ़ती है उसकी मम्मी की उम्र ३६ साल है, नैना के मम्मी को देखकर कोई नहीं कह सकता है की वो ३६ साल की होगी, वो दोनों माँ बेटी बड़ी छोटी बहन लगती है. मेरा तो लण्ड कब से उनदोनो को देखकर खड़ा होता था पर करते भी क्या मूठ मार के या तो पत्नी को चोदते समय उन दोनों को याद करके अपना माल खल्लास करता था. पर ये एक दिन हकीकत में बदल गया मेरा सपना.

एक दिन की बात है, नैना की मम्मी मेरे यहाँ आई और अपने बेटी के लिए कुछ कोर्स की बात करने आई, मेरे कहने के मुताबिक नैना बीएड में दाखिला लिया, तब से हम दोनों घर बालों के बिच में एक रिश्ता बन गया, आना जाना हो गया, जब भी उसके यहाँ कुछ अच्छी चीज बनती थी मेरे घर जरूर भेजती और मेरे यहाँ से भी उनके यहाँ जाता. इस तरह से हम दोनों घर के बिच में काफी अच्छा रिश्ता हो गया. जब भी नैना को कोई सब्जेक्ट में दिक्कत होती या कुछ पूछना होता वो मेरे घर चली आती. इस तरह से नैना मेरे से काफी खुल चुकी थी. धीरे धीरे रिश्ता काफी प्रगाढ़ हो गया.आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। नैना की मम्मी को मैं भाभी कहता, और कभी कभार मैं हसी मजाक भी कर लेता धीरे धीरे थोड़ा और नजदीकी मजाक करने लगा. जैसे की क्या हाल भी भाभी आज सोये नहीं क्या आँख लाल लाल है भैया रात भर सोने नहीं दिए क्या, तब तो भी थोड़ी थोड़ी इस तरह से मजाक करने लगी. वो भी कहती क्या बात है बड़े कमजोर लग रहे हो आज कल लगता है दो तिन ट्रिप हो जाता है रात में क्या? क्या बीवी छोड़ती नहीं है क्या? इस तरह से वो भी काफी खुल गई थी.एक दिन की बात है मैं निचे घूम रहा था तभी वो दोनों माँ बेटी बाजार से आ रही थी. आपको तो पता है मेरी वाइफ गाँव गई है. तो भाभी बोली की कहना खा लिए तो मैंने कहा नहीं नहीं यार जाता हु ढाबा से लाऊँगा, अभी नहीं खाया तो भाभी कहने लगी मैं भी अभी नहीं बनाई है चलो मैं तुम्हारे लिए भी बना देती हु. मुझे भी लगा चलो बोर हो रहा हु अकेले अकेले, मैं भी उन दोनों के साथ हो लिए और चला गया, घर पहुंच कर वो कपडे चेंज की पर जब वो कपडे चेंज कर के आई तो मेरी आँख खुली की खुली रह गई. क्यों की वो नाइटी पहनी थी वो स्लीवलेस था, वो भी पतली स्लेक्स टाइप की पिंक कलर की, यार क्या बताऊँ गजब की हॉट लग रही थी, आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। अंदर वो ब्रा नहीं पहनी थी इस वजह से उनकी चूचियाँ हिल रही थी और निप्पल साफ़ साफ़ नाईटी के ऊपर से दिख रहा था, वो गांड में उनकी नाइटी चिपकी थी इस वजह से गजब लग रही थी ऊपर वो वो बाल ऊपर बाँध ली और लिपस्टिक लगा ली. मैं तो देख कर दंग रह गया, और सोचने लगा की काश मेरी भी बीवी ऐसी होती या तो इनको मुझे चोदने का मौक़ा मिल जाये, तभी वो बोल पड़ी क्या बात है क्या देख रहे हो इतने गौर से पलक बिना झपकाए.

मैं हड़बड़ा गया और बोल नहीं नहीं कुछ भी तो नहीं, पर वो बोली छुपा रहे हो, मुझे पता है क्या क्या देख रहे थे मुझमे, फिर वो मुस्कुरा कर बोली क्यों मन में कुछ चल रहा है क्या. मैंने कहा चल तो बहुत कुछ रहा है पर क्या करूँ इतनी अच्छी किस्मत कहा? तो वो बोली किस्मत तो बन जाता है. मैंने कहा ये तो आप पे निर्भर करता है, तो वो बोली खर्च करना पड़ेगा, मैंने कहा ठीक है. तो वो बोली मैं कोई रंडी हु जो पैसे लुंगी, तो मैंने कहा आप ही तो कह रहे थे की खर्च करना पड़ेगा? तो भाभी बोली अरे यार गिफ्ट तो दे सकते हो. मैंने कहा क्या चाहिए तो वो बोली एक गोल्ड का रिंग. मैंने कहा ठीक है कल चल पड़ना. बोली ठीक है. पर ये बात मैंने कहा हां भाभी समझ गया हु, मैं क्यों बोलूंगा मेरी भी बीवी है.आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और रात को कहना तीनो मिलकर खाया और मैं और भाभी दोनों टीवी देखने लगे. नैना सोने चली गई. जब हम दोनों को लगा की नैना सो गई. हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. मैं तो उनके होठ को चूसने लगा. गजब का एहसास था यार बड़ी बड़ी गोल गोल चूचियाँ जो की मेरे एक हाथ में नहीं आ रहा था दबा रहा था मैं. वो आह आह आह कर रही थी और मेरे होठ को चूमने लगी. उसके बाद मैंने उनको गोद में उठाया और उनके बैडरूम में ले गया और पटक दिया बेड पे, और ऊपर चढ़कर उनकी चूचियाँ दबाने लगा. गजब माल थी यार फिर मैंने उनकी नाइटी उतार दी वो अंदर कुछ भी नहीं पहनी थी. गोल गोल चूचियाँ, चूत एक दम क्लीन था वो आज ही सेव की थी. मोटे मोटे जांघ ओह्ह्ह भरा पूरा गोरा बदन मैं तो ऊपर से निचे तक चाटने लगा.
फिर मैंने 69 की पोजीशन में आ गया मैं उनके चूत को चाट रहा था और फिर वो मेरे लण्ड को चाट रही थी. उनके चूत से गरम गरम पानी निकल रहा था और मैं अपने जीभ से चाट चाट कर साफ़ कर दे रहा था. उनकी चूत काफी गरम हो चुकी थी, फिर मैंने उनके चूत में ऊँगली डालने लगा, वो मेरे ऊँगली को दोनों जांघों के बिच में दबा दी. और सिसकियाँ लेने लगी. फिर मैंने ऊँगली अंदर बाहर करने लगा. वो आह आह करने लगी. फिर सीधा हो गया और मैंने उनके बाल खोल दिए, और हाथ ऊपर कर दिए. आप ये कहानी आप निऊ हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। उनके कांख में काले काले बाल थे. मैंने उनके कांख को जीभ से चाटने लगा. ओह क्या बताऊँ दोस्तों कैसा मजा लग रहा था. फिर मैंने अपने जीभ से उनके निप्पल को सहलाने लगा फिर वो वो कमाल की अंगड़ाई लेने लगी. और कहने लगी. अब बर्दास्त नहीं हो रहा है. दे दो लण्ड अपना मेरे चूत में.
मैंने कहा अभी कहा अभी तो मैं और भी ज्यादा गरम करूँगा अभी तो समय नहीं हुआ है अभी मैं मैं आपकी हालात और भी ज्यादा ख़राब कर दूंगा. तो भाभी बोली ज्यादा बक बक मत करो नहीं मैं मैं आपको पूरी की पूरी अपने चूत में डाल लुंगी. तो मैंने कहा आप मेरा लण्ड ही अपने चूत में बर्दाश्त कर लो यहाँ काफी है. तो भाभी बोली देख क्या रहे हो try कर लो. मैंने भी उनके दोनों जांघों को फैला दिया, और चूत पे अपना मोटा लण्ड रखकर, जोर से धक्का मारा पूरा का पूरा लण्ड उनके चूत में समा गया. वो चीखकर बोली, मेरी चूत फट गई. ओह्ह्ह आह आह उफ़ उफ़ उफ़ कितना मोटा लण्ड है आपका, और मैंने फिर उनकी दोनों चूचियाँ अपने हाथ में ले के मसलने लगा और उनके चूत में जोर जोर से झटके देने लगा. पूरा कमरा फच फच कर रहा था. और वो आह आह आह और मैं हाय हाय कर रहा था. तभी नैना आ गई कमरे में और बोली मम्मी आप दोनों क्या कर रहे हो आप दोनों को शर्म नहीं आती है? शेष कहानी दूसरे एपिसोड में जरूर पढ़े ये और भी हॉट है. क्यों की तभी नैना को भी चोदा था मैंने नैना तो वर्जिन थी. कैसे उसकी मम्मी उसको साथ में लेके चुदाई थी. पूरी कहानी पढ़े दूसरे एपिसोड में.कैसी लगी माँ और बेटी की सेक्स स्टोरी , शेयर करना , अगर कोई माँ की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/RenuaDebi

The Author

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स कहानियाँ

Hindi urdu sex story & चुदाई की कहानी © 2018 चुदाई की कहानियाँ